JNU छात्रों पर लाठीचार्ज, संसद पहुंचने से पहले रोका गया

by Rumana Alvi 8 months ago Views 1257
JNU students lathicharged, stopped before reaching
जेएनयू में फीस वृद्धि को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। छात्रों ने सोमवार को जेएनयू से संसद तक मार्च निकाला लेकिन पुलिस ने छात्रों को रास्ते में ही रोक दिया। इस दौरान पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए 30 से ज़्यादा छात्रों को हिरासत में लिया। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सोमवार को तीन सदस्यीय एक समिति का गठन किया है, जो छात्रों की मांगों और सुझावों पर गौर करेगी।

फ़ीस बढ़ोतरी को लेकर पिछले एक महीने से जारी छात्रों का प्रदर्शन अब ज़ोर पकड़ता जा रहा है। छात्रों के प्रदर्शन को देखते हुए केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने इस विवाद को सुलझाने के लिए तीन सदस्यीय एक कमिटी का गठन भी किया है जो कि छात्रों की मांगों और सुझावों को पर गौर करेगी। इधर हज़ारो की तादात में छात्रों ने यूनिवर्सिटी से संसद का रुख करना शुरू कर दिया। इसके बाद सफदरजंग के रास्ते से संसद की ओर कूच करते जेएनयू के छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। 

Also Read: Box Office Report: फिल्म 'मरजावां' और 'मोतीचूर चकनाचूर' ने कितनी कमाई की?

यूनिवर्सिटी कैंपस के बाहर छात्रों को रोकने के लिए लगाए गए बैरिकेड तोड़ आगे बढ़ गए और फिर पुलिस ने बेर सराय रोड पर रोक दिया। लेकिन यहाँ भी छात्रों ने फिर बैरिकेड तोड़ दिए और आगे जाने की कोशिश की तो पुलिस ने जेएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष समेत 30 से ज़्यादा छात्रों को हिरासत में ले लिए। वहीँ छात्रों के बढ़ते प्रदर्शन को देखिते हुए दिल्ली मेट्रो ने उद्योग भवन, पटेल चौक और केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों पर एंट्री और एग़्ज़िट बंद कर दी।

वीडियो देखिये

 कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा कि सरकार छात्रों से डरी हुई है और सरकार को बढ़ी हुई फीस को तुरंत वापस लेना चाहिए। 

फीस बढ़ोतरी के ख़िलाफ़ पिछेले एक महीने से यूनिवर्सिटी कैंपस के भीतर और बाहर आंदोलन कर रहे हैं. फीस बढोतरी की मांग के अलावा छात्र ड्रेस कोड वापस लेने और हॉस्टल में आने जाने की बदली हुई टाइमिंग वापस लेने की मांग को लेकर अड़े हुए हैं और अब छात्रों का प्रदर्शन कैंपस से बाहर निकल के सड़क पर आ गया है।