कोरोना की वैक्सीन बनाने के दावे को इज़रायल ने ख़ारिज किया

by M. Nuruddin 2 years ago Views 3424

Israel rejected the claim to make Corona's vaccine
कोरोनावायरस दुनिया के 114 देशों को अपनी ज़द में ले चुका है. इस जानलेवा वायरस से अभी तक 4968 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1 लाख 34 हज़ार 113 लोग संक्रमित हैं. इनके अलावा 67 हज़ार से ज़्यादा लोग बचाए भी गए हैं. इस बीच सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि कोरोनावायरस से निपटने के लिए इज़राइली वैज्ञानिकों ने वैक्सीन की खोज कर ली है।

तक़रीबन पांच हज़ार लोगों की जान ले चुका कोरोना वायरस अभी तक लाइलाज है. दुनिया के तमाम देश इस बीमारी का इलाज और वैक्सीन ढूंढने में लगे हुए हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार करने में एक साल से ज़्यादा का वक़्त लग सकता है.


इस बीच सोशल मीडिया पोस्ट्स में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए इज़राइली वैज्ञानिकों ने वैक्सीन की खोज कर ली है. हालांकि इज़राइल की एमआईजीएएल गैलिली रिसर्च इंस्टिट्यूट की रिपोर्ट इस दावे को सिरे से ख़ारिज करते हैं. 

एमआईजीएएल रिसर्च इंस्टिट्यूट के मुताबिक़ चार साल के शोध के बाद एक वैक्सीन ज़रूर तैयार की गई है लेकिन यह पोल्ट्री से फैलने वाले इंफैक्शियस ब्रोंकाइटिस वायरस यानी आईबीवी से बचाती है. इस वायरस को एवियन कोरोना वायरस भी कहा जाता है. इज़रायली वैज्ञानिकों के मुताबिक आईबीवी वैक्सीन की प्री-क्लीनिकल प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है. इसी वैक्सीन के विकसित होने पर अफ़वाह फैल गई कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार कर ली गई है.

वीडियो देखिए

एमआईजीएएल रिसर्च संस्थान का दावा है कि 8-10 हफ़्ते में नोवेल कोरेना वायरस के लिए भी वैक्सीन तैयार कर ली जाएगी लेकिन सुरक्षा अप्रूवल में 90 दिनों का वक्त लग सकता है. इसी इंस्टिट्यूट के सीईओ डेविड ज़िगडन ने कहा कि वैक्सीन की इन-ह्युमन ट्रायल के बाद वैक्सीन के फाइनल डेवलपमेंट की प्रक्रिया पूरी की जा सकेगी. हालांकि इस पूरी प्रक्रिया में कितना वक़्त लगेगा, अभी साफ नहीं है.

ताज़ा वीडियो