INDvsENG: टेस्ट सीरीज रद्द होने पर ब्रिटिश मीडिया में भारतीय टीम की आलोचना आश्चर्यजनक

by GoNews Desk 9 months ago Views 1961

Manchester test

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टेस्ट सीरीज रद्द होने के बाद ब्रिटिश मीडिया में भारत की आलोचना हो रही है। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने ऐलान किया था कि फिर से शैड्यूल मैच स्टैंडअलोन होगा। हालांकि टेस्ट सीरीज रद्द होने की ख़बरें इंग्लैंड क्रिकेट टीम और फैंस के लिए निराश करने वाली रही। 

इंग्लैंड के पूर्व स्कीपर माइकल वॉगन ने अपने ट्विटर पर लिखा, “भारत ने इंग्लैंड क्रिकेट को नीचा दिखाया।!!” इंग्लिश मीडिया ने इस मैच को बिका हुआ बताया है जिससे न सिर्फ फैंस बल्कि लंकाशायर और इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को भी नुकसान हुआ है। 

अखबार ‘दि गार्डियन’ ने टेस्ट रद्द होने के फैसले और इस पर जारी विवाद पर भारतीय टीम या स्टाफ की तरफ से कोई बयान न दिए जाने को लेकर निशाना साधा। हालांकि ‘टेलीग्राफ’ ने इससे इतर राय पेश की है। उसने कहा कि ये इंग्लैंड का ‘पाखंड’ होगा अगर वह भारत की इस मोर्चे पर आलोचना करता है, जबकि खुद उसका दक्षिण अफ्रीका के साथ मैच कोरोना संक्रमण की वजह से रद्द हो गया था। 

इंग्लैंड और भारत के बीच होने वाला टेस्ट सीधे तौर पर अपेक्षित मैच था और मैच ऐसे मौके पर रद्द हुआ जब भारतीय टीम मेज़बान इंग्लैंड से आगे थी। ऐसे में आलोचक मैच के रद्द होने को शक की निगाहों से देख रहे हैं। 

समाचार पत्र ‘द मैट्रो’ ने अपनी हेडलाइन में इस ख़बर को प्रकाशित करते हुए लिखा कि “बड़ी क्रिकेट सीरीज निराशाजनक परिस्थितियों में खत्म हुई।” उसने लेख की हेडलाइन में सीरीज खत्म होने का ज़िम्मेदार भारतीय टीम को ठहराते हुए लिखा, “भारतीय सितारों ने खेलने से मना किया।”

भारत ओवल में 157 रनों से प्रचंड जीत के बाद पांच मैचों की सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था। चौथे टेस्ट के दौरान भारत को तब झटका लगा जब उनके मुख्य कोच रवि शास्त्री समेत उनके सहयोगी स्टाफ के तीन सदस्य कोरोना से संक्रमित हो गए। रवि शास्त्री के अलावा, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर संक्रमित हैं।

पांचवें टेस्ट के पहले एक सदस्य के कोरोना संक्रमित होने के बाद दोनों टीमों को मैच रद्द करने का निर्णय लेना पड़ा। बावजूद इसके कि सीरीज में भारत, इंग्लैंड से आगे चल रहा था, ब्रिटिश मीडिया का भारतीय क्रिकेट टीम की आलोचना करना आश्चर्यजनक है।

ताज़ा वीडियो