वर्ल्ड इकोनॉमी कॉम्पिटिशन में 10 पायदान नीचे आया भारत

by M. Nuruddin 2 years ago Views 2413

Global Competitiveness Index
मोदी सरकार की पांच ट्रीलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के सपने को वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की रिपोर्ट से झटका लगा है। Global Competitiveness Index में भारत 10 पायदान नीचे खिसककर 68वें पायदान पर आ गया है।

इस लिस्ट में सिंगापुर ने अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए पहले स्थान पर अपनी जगह बना ली है। अर्थव्यवस्था के कॉम्पिटिटिव लिस्ट में अमेरिका के पिछड़ने का कारण अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर बताया गया है। पहले से मंदी की चपेट में जाते भारत के लिये इस कॉम्पिटिशन में पिछड़ना भारतीय अर्थव्यवस्था को और भी डांवाडोल करने जैसा है।


वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम ने लिस्ट जारी करते हुए कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था फिलहाल स्थिर नहीं है। WEF ने बैंकिंग सेक्टर की ओर ध्यान खींचते हुए भारत के बैंकिंग सेक्टर को कमज़ोर स्थिति में बताया।

इससे पहले WEF द्वारा जारी रिपोर्ट में भारत 58वें स्थान पर था। ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि, इस साल भारतीय अर्थव्यवस्था ब्रिक्स देशों में सबसे कमज़ोर प्रदर्शन करने वाली अर्थव्यवस्था रही।

कॉर्पोरेट गवर्नेंस की बात करें तो भारत को 15वें स्थान पर है वहीं शेयरहोल्डर गवर्नेंस में दूसरे स्थान पर और मार्केट साइज़ में भारत को तीसरे स्थान पर रखा गया है। रेनुएवल एनर्जी के मामले में भी भारत तीसरे स्थान पर है।

रिपोर्ट में और क्या है?

लाइफ एक्सपेंटेंसी में भारत 141 देशों में 109वें स्थान पर है। वहीं पुरुष श्रमिकों की तुलना में महिला श्रमिकों के अनुपात अब भी कम है इस दौर में भारत 128वें स्थान पर है.

वीडिये देखिये

टॉप 10 देश

1- सिंगापुर   

2- अमेरिका

3- हॉंग-कॉंग एसएआर

4- नीदरलैंड

5- स्विट्जरलैंड

6- जापान

7- जर्मनी

8- स्वीडन

9- ब्रिटेन

10- डेनमार्क

ताज़ा वीडियो