ads

साल 2020 के दौरान अमेरिका, चीन के बाद सैन्य ख़र्च में भारत तीसरे स्थान पर

by M. Nuruddin 1 week ago Views 1526

सेना पर ख़र्च करने वाले टॉप पांच देशों का हिस्सा 62 फीसदी रहा...

India ranked third in military expenditure after U
भारत, साल 2020 के दौरान दुनिया में अमेरिका और चीन के बाद सेना पर ख़र्च करने वाला तीसरा सबसे बड़ा देश रहा। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट की सोमवार को जारी रिपोर्ट में यह बात कही गई है। वैश्विक सैन्य ख़र्च का 39 फीसदी हिस्सा अकेले अमेरिका ने किया है। इसके बाद चीन है जिसका सैन्य ख़र्च 13 फीसदी रहा। इसके बाद भारत का नंबर है जिसकी साल 2020 के दौरान वैश्विक सैन्य ख़र्च में 3.7 फीसदी हिस्सेदारी रही।

रिपोर्ट के मुताबिक़ अमेरिका ने साल 2020 के दौरान सेना पर 778 अरब डॉलर ख़र्च किए। चीन ने 252 अरब डॉलर और भारत ने 72.9 अरब डॉलर ख़र्च किए थे। इन तीनों देशों में महामारी के दौरान भी सेना पर ख़र्च साल 2019 की तुलना ज़्यादा ही रहा। आंकड़े देखें तो 2019 की तुलना में भारत का सैन्य ख़र्च 2.1 फीसदी बढ़ा है। जबकि चीन का 1.9 फीसदी और अमेरिका का सैन्य ख़र्च 2019 के मुक़ाबले 4.4 फीसदी बढ़ा है।


आंकड़े बताते हैं कि अमेरिका अपनी जीडीपी का 3.7 फीसदी हिस्सा सेना पर ख़र्च करता है। जबकि चीन 1.7 फीसदी और भारत का कुल जीडीपी में सैन्य ख़र्च 2.9 फीसदी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ साल 2011 से 2020 के दौरान अमेरिका के सैन्य ख़र्च में 10 फीसदी की गिरावट देखी गई है। जबकि इस दौरान चीन का सेना पर होना वाला ख़र्च 76 फीसदी बढ़ा है। इसी दौरान भारत ने भी अपने सैन्य ख़र्च 34 फीसदी बढ़ाए हैं।

स्टॉकहोम की रिपोर्ट में कहा गया है एशिया और ओशिनिया (जिसमें ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे देश आते हैं) में सैन्य ख़र्च साल 2020 के दौरान 2019 की तुलना में 2.5 फीसदी ज़्यादा रही, जबकि 2011 की तुलना में यह 47 फीसदी ज़्यादा रही। वहीं एशिया में भारत और चीन दो ऐसे देश हैं जो 2020 को दौरान कुल वैश्विक सैन्य ख़र्च का 62 फीसदी हिस्सेदार है।

साल 2020 में महामारी के दौरान सेना पर ख़र्च करने वाले टॉप लिस्ट में कई अन्य देश भी शामिल हैं। इनमें रूस का सैन्य ख़र्च 61.7 अरब डॉलर, ब्रिटेन का 59.2 अरब डॉलर, सऊदी अरब का 57.5 अरब डॉलर और फ्रांस का सैन्य ख़र्च 53 अरब डॉलर रहा। रिपोर्ट में बताया गया है कि वैश्विक सैन्य ख़र्च साल 2019 की तुलना में 2.6 फीसदी की बढ़त के साथ 2020 के दौरान 1981 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। इनमें सेना पर ख़र्च करने वाले टॉप पांच देशों का हिस्सा 62 फीसदी रहा।

ताज़ा वीडियो