2018 में 1,26,223 किलो विस्फोटक ज़ब्त, 1.67% ही आतंकवादियों, नक्सलियों से बरामद

by M. Nuruddin 2 years ago Views 1738

In 2018, 1,26,223 kg explosives seized, 1.67 perce
ताज़ा जारी सरकारी आंकड़े बताते है की साल 2018 में जितना विस्फोटक पदार्थ सुरक्षा एजेंसियों ने देशभर में पकड़ा, उसका केवल 1.67 फीसदी ही आतंकवादियों, नक्सलियों और उग्रवादी समूहों से बरामद किया गया। बाकी सारी मात्रा अपराधियों और तस्करों के पास से पकड़ी गयी। ज़ाहिर है इनका मज़बूत नेटवर्क भी अब सुरक्षा एजेंसियों के लिए एक बड़ी चुनौती है.

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो के ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि साल 2018 में देशभर में 1,26,223 किलोग्राम विस्फोटक पकड़े गए। जिसमें 2,105 किलोग्राम विस्फोटक आतंकवादियों, नक्सलियों और उग्रवादी समूहों से बरामद हुए। जो कुल बरामदगी का 1.67 फीसदी है। जबकि 1,24,118 किलोग्राम विस्फोटक यानि 98 फीसदी से ज़्यादा अपराधियों या तस्करों के पास से ज़ब्त हुए। ज़ब्त किए गए विस्फोटकों में आरडीएक्स, टीएनटी, प्लास्टिक विस्फोटक और गन पाउडर वग़ैरह शामिल है.


आंकड़ों के मुताबिक देशभर में कुल 70 किलोग्राम आरडीएक्स बरामद हुआ। इसमें से 25 किलो आरडीएक्स आतंकवादी, नक्सलियों और उग्रवादी समूहों के पास, जबकि 45 किलोग्राम आरडीएक्स अपराधियों या तस्करों के पास से मिला। इसके अलावा कुल 69 किलोग्राम टीएनटी की बरामदगी चरमपंथी समूहों से हुई लेकिन 160 किलोग्राम प्लास्टिक विस्फोटक अपराधियों और तस्करों के पास से मिला.

वीडियो देखिये

इसी तरह 8,065 किलोग्राम गन पाउडर की बरामदगी हुई. इसमें 1,608 किलोग्राम गन पाउडर चरमपंथियों के पास से ज़ब्त हुआ जबकि 6,457 किलोग्राम गन पाउडर की बरामदगी अपराधियों या तस्करों से हुई। आंकड़े बताते हैं जहां आतंकवादी और नक्सलियों के पास 403 किलोग्राम अन्य विस्फोटक मिले वहीं अपराधियों या तस्करों के पास से यह 1,17,456 किलोग्राम की मात्रा में जब्त किया गया. 

यह आंकड़े बताते हैं कि देश की सुरक्षा के लिए आतंकवादी, नक्सलियों और उग्रवादी समूह जितना बड़ा ख़तरा है, छोटे-मोटे अपराधियों और तस्करों का नेटवर्क भी कम बड़ी चुनौती नहीं है. 

ताज़ा वीडियो