ads

डॉनल्ड ट्रंप के ख़िलाफ़ अमेरिकी सीनेट में महाभियोग की कार्यवाही शुरु

by GoNews Desk 3 months ago Views 1426

क्या सीनेट ट्रंप को दोषी मानेगी ?

Impeachment proceedings started against Donald Tru
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के ख़िलाफ़ महाभियोग की कार्यवाही शुरु हो चुकी है। मंगलवार को अमेरिकी सीनेट ने माना है कि ट्रंप के ख़िलाफ महाभियोग संवैधानिक है। ट्रंप के वकीलों ने दलील दी थी कि पूर्व राष्ट्रपति के ख़िलाफ़ महाभियोग असंवैधानिक है और यह प्रस्ताव किया जाना चाहिए। सीनेट में खुद रिपब्लिकन पार्टी के कुछ सांसदों ने महाभियोग के पक्ष में मतदान किया है। 

सीनेट में 56 सांसदों ने महाभियोग ट्रायल के समर्थन में मतदान किया जबकि 44 सांसद इसके ख़िलाफ हैं। 100 सीटों वाली अमेरिकी सीनेट में दोनों दलों डेमोक्रेट और रिपब्लिकन के 50-50 सदस्य हैं। महाभियोग प्रबंधकों ने सीनेट के सामने कहा कि राष्ट्रपति जो बाइजन की जीत को ग़लत साबित करने के लिए ट्रंप ने अभियान चलाया और 6 जनवरी को कैपिटल हिल दंगे से पहले उन्होंने अपने समर्थकों को हिंसा के लिए उकसाया।


अब जबकि बहुमत के साथ ट्रंप के ख़िलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरु होगी, इस बीच दोनों पक्षों के पास अपनी दलील देने के लिए 16-16 घंटे का वक्त दिया जाएगा जिसके बाद आगे की कार्यवाही होगी।

ट्रंप के वकील डेविड शॉयन ने पूर्व राष्ट्रपति के ख़िलाफ़ महाभियोग प्रस्ताव को खारिज करने की मांग की थी। उन्होंने कहा था, ‘इसके लिए उचित प्रक्रिया की कमी’ है। शॉयन ने कहा था कि सदन को पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को अपना पक्ष रखने और आरोपों का जवाब देने की अनुमति देनी चाहिए और अब जबकि वो राष्ट्रपति पद से हट चुके हैं, तो उनके ख़िलाफ़ ‘महाभियोग नहीं चलाया जा सकता।’

अपने बयान में ट्रंप के वकील शॉयन ने डेमोक्रेट पर ‘राजनीतिक फायदे के लिए महाभियोग की शक्ति का दुरुपयोग करने’ का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि यह डॉनल्ड ट्रंप के राजनीतिक कैरियर को ख़त्म करने की कोशिश है। ट्रंप के वकील का आरोप था कि हाउस ने ‘असंवैधानिक सिद्धांत के ज़रिये महाभियोग चलाने का निर्णय लिया है, वो यह दिखाएंगे की सीनेट के पास पूर्व राष्ट्रपति के महाभियोग का कोई अधिकार नहीं है।’

अमेरिकी समय के हिसाब से अमेरिकी सीनेट में आगे की कार्यवाही बुधवार दोपहर तक टल गई है। माना जा रहा है कि डेमोक्रेट की तरफ से महाभियोग के प्रबंधक ट्रंप के कैपिटल हिल दंगे को लेकर दिए बयान को सीनेट के सामने पेश कर सकते हैं। इस दंगे को खुद ट्रंप के समर्थकों ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। जानकार मानते हैं कि ट्रंप के ख़िलाफ़ इन सबूतों से डेमोक्रेट के पक्ष को मज़बूती मिलेगी

जानकारों का मानना है कि डेमोक्रेट को 6 जनवरी की कैपिटल हिल की घटना पर ही ज़्यादा फोकस करना चाहिए। 6 जनवरी को अमेरिका के कैपिटल हिल में ट्रंप के ‘उकसावे’ वाले बयान से दंगा भड़क गया था। ट्रंप पर आरोप लगे कि उन्होंने अपने समर्थकों को हिंसा के लिए उकसाया जिससे उनके समर्थकों ने कैपिटल हिल के भीतर घुसकर तोड़फोड़ मचाई जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई।

क्या सीनेट ट्रंप को दोषी मानेगी ?

अमेरिकी सीनेट के नियम के मुताबिक़ ट्रंप तभी दोषी घोषित किए जा सकते हैं जब सीनेट के दो तिहाई सांसद पक्ष में मतदान करे। यानि सीनेट के 100 सांसदों में  67 सांसदों को पक्ष में मतदान करना होगा। अभी सीनेट में डेमोक्रेट के पास 56 सांसदों का समर्थन है। इनमें ट्रायल शुरु करने के पक्ष में 6 रिपब्लिकन सांसदों का समर्थन भी शामिल है। आसान भाषा में कहें तो ट्रंप को दोषी घोषित करने के लिए डेमोक्रेट को 11 और सांसदों की ज़रूरत पड़ेगी जिसकी संभावना बेहद कम है।

ताज़ा वीडियो