ads

अर्नब की कथित चैट लीक पर पाकिस्तान ने क्या प्रतिक्रिया दी ?

by GoNews Desk 3 months ago Views 1904

'मोदी सरकार फांसीवादी रवैया अपना रही है और उनकी सरकार इसका खुलासा करती रहेगी।'

How did Pakistan react to the alleged Arnab's chat
रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी और बार्क के पूर्व सीईओ पार्थो दास गुप्ता की कथित व्हॉट्स एप चैट लीक पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक को लेकर मोदी सरकार को फिर से घेरने की कोशिश की। उन्होंने आरोप लगाया कि बालाकोट एयर स्ट्राइक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी प्रचार के लिए डिज़ाइन किया गया था।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैंने 2019 में ही संयुक्‍त राष्‍ट्र में दिए अपने भाषण में ये कहा था कि हमले का इस्तेमाल चुनावी फायदे के लिए किया गया था। इस मामले से मोदी सरकार और भारतीय मीडिया के बीच एक गंदे रिश्ते का भी पता चलता है जो परमाणु हथियारों से लैस इस क्षेत्र को संघर्ष की आग में झोंकना चाहता है। मोदी सरकार फांसीवादी रवैया अपना रही है और उनकी सरकार इसका खुलासा करती रहेगी।’


इमरान खान ने भारत को अंतराष्ट्रीय मोर्चे पर घेरने की भी कोशिश की। उन्होंने दुनिया से मांग की है कि भारत के सैन्य एजेंडे को रोका जाए नहीं तो उपमहाद्वीप मुश्किल में आ जाएगा। इससे पहले पाकिस्‍ता के विदेश मंत्रालय ने भी अर्नब गोस्‍वामी की कथित चैट लीक को लेकर कहा था कि इसने भारत के भयावह सोच को उजागर कर‍ दिया है।

लीक व्हॉट्स एप चैट के मुताबिक़ अर्नब गोस्वामी ने 26 फरवरी 2019 बालाकोट एयर स्ट्राइक से तीन दिन पहले इस एयर स्ट्राइक की पुख़्ता भविष्यवाणी की थी। उन्होंने पार्थो दास गुप्ता को चैट में कहा, ‘कुछ बड़ा होगा’ और ‘पाकिस्तान पर सरकार इस तरह से हमला करने के लिए आश्वस्त है कि लोगों को उत्तेजित कर देगा।’

चैट में दासगुप्ता ये कहते देखे जा सकते हैं कि, ‘पाकिस्तान पर हमला मोदी को आगामी आम चुनाव में ‘प्रचंड बहुमत’ दिलाएगा। इसके बाद मई 2019 के आम चुनाव में नरेंद्र मोदी को भारी बहुमत मिली और अकेले 303 सीटों के साथ सत्ता में वापसी की। हालांकि चैट लीक पर अभी तक न तो अर्नब गोस्वामी, न पार्थो दास गुप्ता और न ही केन्द्र सरकार की तरफ से कोई सफाई आई है। हालांकि चैट लीक पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर रिपब्लिक टीवी ने एक बयान जारी किया है जिसमें आरोप लगाया गया है कि ‘पाकिस्तान सरकार उनके चैनल के खिलाफ साजिश कर रही है।’

फरवरी 2019 में पुलवामा हमले में 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए थे। इस हमले के बाद भारत ने 26 फरवरी को हवाई हमले कर 300 ‘आतंकवादी’ मारने का अनौपचारिक दावा किया था। पुलवामा हमले के लिए भारत ने पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद को दोषी ठहराया, जिसने हमले की ज़िम्मेदारी भी ली थी। हालांकि इसके बाद पाकिस्तान ने भी कार्रवाई की थी और जैश-ए-मोहम्मद के नेताओं को हिरासत में लिया था। 

हवाई हमले के बाद भारत के दावे को पाकिस्तान ने सिरे से खारिज किया था। पाकिस्तान का दावा था कि लड़ाकू विमानों ने एक जंगल वाले इलाके में बम गिराए, जिससे कोई हताहत नहीं हुई। इसके बाद पाकिस्तान ने भारत को कई अंतराष्ट्रीय मंचों पर घेरने की लगातार कोशिश करता रहा है और यह आरोप लगाता रहा है कि नरेंद्र मोदी ने हवाई हमले का इस्तेमाल घरेलू चुनावी लाभ के लिए किया था।

ताज़ा वीडियो