ads
Trending

हाथरस गैंगरेप की पीड़िता की दिल्ली में मौत, योगी पर बरसे विपक्षी दल

by Ankush Choubey 3 weeks ago Views 705
Hathras gang rape victim dies in Delhi, opposition
ads
उत्तर प्रदेश के हाथरस में 14 सितम्बर को गैंगरेप की शिकार बनी 19 साल की दलित लड़की ने मंगलवार की सुबह दिल्ली में दम तोड़ दिया. उसे बेहतर इलाज के लिए सोमवार की सुबह दिल्ली एम्स में एडमिट किया गया था लेकिन उसकी जान नहीं बच सकी. इस सनसनीखेज़ वारदात के बाद से यूपी की योगी सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर है.

इस वारदात के आरोपियों ने न सिर्फ लड़की के साथ गैंगरेप किया बल्कि उसके साथ बुरी तरह मारपीट की. पीड़िता वारदात के बारे में किसी को बता न सके, इस मकसद से उसकी ज़बान काट दी गई. उसकी रीढ़ की हड्डी तक तोड़ दी गई थी. 14 सितंबर को हुई इस वारदात के बात पीड़िता को अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में रेफ़र किया गया था लेकिन उसकी हालत बिगड़ती जा रही थी. सोमवार को उसे बेहतर इलाज के लिए दिल्ली लाया गया था.

Also Read: IPL 2020: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की सुपर ओवर में शानदार जीत, एबी डीविलियर्स प्लेयर ऑफ द मैच

इस मामले में हाथरस पुलिस पर ढंग से कार्रवाई नहीं करने का आरोप लग रहा था. हालांकि लड़की के बयान के बाद हाथरस पुलिस को गैंगरेप की धाराओं में चारों मुलज़िमों को गिरफ़्तार करना पड़ा.

इस मौत के बाद कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गाँधी वाड्रा ने ट्वीट किया कि हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही. हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है.

प्रियंका गाँधी ने यह भी कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है. महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है. अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं.

यूपी की पूर्व सीएम और बहुजन समाजवादी पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कहा कि हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद.  सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह माँग.

यह दलित लड़की 14 सितंबर को अपनी माँ के साथ खेत में घास काटने गई थी. तभी लड़की को अकेला पाकर सवर्ण जाति के आरोपी उसे उसके दुपट्टे से खींचकर खेतों में ले गए और उसके साथ गैंगरेप किया. जब लड़की ने चिल्लाने की कोशिश की तो पहले उसकी जीभ काट दी और फिर उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी. एनसीआरबी के आंकड़े बताते हैं कि संगीन अपराध के मामले में उत्तर प्रदेश की हालत सुधर नहीं रही है. हालिया महीनों में बलात्कार और गैंगरेप के तमाम मामलों ने योगी सरकार के दावों की पोल खोल दी है.