गुजरात: अहमदाबाद में हालात बेक़ाबू, सख़्त नाकेबंदी में पूरा शहर

by Rahul Gautam 2 years ago Views 436378

Gujarat: situation is out of control in Ahmedabad,
गुजरात का अहमदाबाद शहर बुरी तरह कोरोनावायरस की चपेट में आ गया है. यहां अब तक कोरोना के 4 हज़ार 761 मरीज़ सामने आ चुके हैं और पूरा शहर गुरूवार से 7 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है. दूध और दवाई की सप्लाई को छोड़कर अहमदाबाद में सबकुछ बंद है. लोगों के घरों से निकलने पर सख़्त पाबंदी है.

हालांकि अहमदाबाद प्रशासन ने जब बुधवार को शहर के लॉकडाउन का ऐलान किया तो 55 लाख से ज़्यादा की आबादी वाले इस शहर में घबराहट पैदा हो गई. ज़रूरी सामानों को जुटाने के लिए लोगों का हुजूम बाज़ारों में उमड़ पड़ा और शहर में जगह जगह जाम जैसे हालात बन गए. इस दौरान लोग सोशल डिस्टेंसिंग का नियम भी भूल गए.


अहमदाबाद में इतनी सख़्त पाबंदी की वजह कोरोनावायरस के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी है. शहर में अबतक 39 हज़ार 165 टेस्ट किए गए हैं जिनमें से 4 हज़ार 761 लोगों में कोरोना से संक्रमित मिले हैं. सबसे बड़ी चिंता यह है कि अहमदाबाद में संक्रमण की दर राष्ट्रीय दर से दोगुनी से भी ज़्यादा है. शहर में लगभग 20 हज़ार लोग क्वारंटाइन में हैं जबकि 298 लोगों की मौत हो चुकी है. गुजरात के कुल केस में से 70 फीसदी अकेले अहमदाबाद में दर्ज हुए हैं.

इस डरावनी तस्वीर के बाद अहमदाबाद प्रशासन ने गुरुवार से सब्ज़ी, फल और राशन की दुकानें बंद करवा दीं. साथ ही, सुपरमार्केट और होम डिलेवरी सेवाएं भी 15 मई तक रोक दी गईं. प्रशासन को अंदेशा है कि ये सभी कोरोनावायरस के संभावित स्रोत हैं. लिहाज़ा, आदेश को सख़्ती से लागू करने के लिए शहर में पैरामिलिट्री के जवानों को उतारा गया है. अहमदाबाद में पैरामिलिटरी फोर्स की 38 कंपनियां सड़कों पर गश्त कर रही हैं. इनमें 4 BSF और 1 CISF की कंपनी केंद्र की ओर से भेजी गई है.

वीडियो देखिए

संक्रमित इलाक़ों में कोरोना को रोकने के लिए माइक्रो कंटेनमेंट ज़ोन बनाए गए हैं. शहर के पुलिस कमिश्नर आशीष भाटिया ने कहा कि माइक्रो कन्टेनमेंट जोन में लोगों की आवाजाही नहीं होगी. शहर के 15 पुलिस थानों में कुल 57 माइक्रो कंटेनमेंट ज़ोन हैं.

इसके साथ शहर के 1000 बेड की क्षमता वाले 9 प्राइवेट अस्पतालों को भी टेकओवर कर लिया गया है. सभी प्राइवेट क्लिनिक, नर्सिंग होम और अस्पतालों को नोटिस देकर अगले 48 घंटे में खोलने का आदेश दिया गया है और ऐसा नहीं करने पर उनके लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे.

अहमदाबाद में लगातार बिगड़ते हालात बताते हैं कि गुजरात सरकार के लिए यहां कोरोना से लड़ाई एक बड़ी चुनौती बन चुकी है.

ताज़ा वीडियो