वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भरता के लिए आर्थिक पैकेज का ऐलान किया, बाज़ार में गिरावट

by M. Nuruddin 1 year ago Views 1806

Finance Minister announced economic package for se
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को दावा किया है कि भारत की अर्थव्यवस्था में ‘ज़ोरदार सुधार’ देखने को मिल रहा है। इसके लिए उन्होंने जीएसटी कलेक्शन में हुई बढ़ोत्तरी का हवाला दिया है। वित्त मंत्री ने कहा कि ये वसूली सिर्फ मांग में बढ़ोत्तरी की वजह से नहीं है। बल्कि, ऊर्जा की खपत, पर्चेज़िंग मैनेजर इंडेक्स में सुधार, बैंक क्रेडिट में सुधार और शेयर बाज़ार में भी बढ़ोत्तरी देखी गई है।

उन्होंने कहा कि महामारी शुरु होने के बाद से केन्द्र और आरबीआई ने मिलाकर अबतक 29.87 लाख करोड़ की वित्तीय सहायता दी है। उन्होंने कहा कि यह रक़म देश की कुल जीडीपी का 15 फीसदी है। वित्त मंत्री ने एक बार फिर आत्मनिर्भरता का नारा दिया और आत्मानिभर भारत 3.0 के लिए 2.65 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है।


वित्त मंत्री ने कहा कि यह रक़म 11 नवंबर को घोषित पीएलआई या प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव योजना के तहत ही जारी की जाएगी। बुधवार को केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक में अगले पांच सालों के लिए यह स्कीम शुरु की गई है। इस योजना के तहत टेलिकॉम, ऑटोमोबाइल और टूरिज़्म जैसे 10 प्रमुख क्षेत्रों के लिए दो लाख करोड़ रूपये के आवंटन का ऐलान किया गया है।

वित्त मंत्री ने दावा किया कि यह योजना ‘भारत को आत्मनिर्भर’ बनाने के लक्ष्य को हासिल करने में बड़ी भूमिका अदा करेगी। हालांकि वित्त मंत्री की इन घोषणाओं के दौरान ही 02:15 तक निफ्टी बैंक इंडेक्स में लगभग 2 फीसदी की गिरावट आई। कोटक महिंद्रा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, आईसीआईसीआई बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, इंडसइंड बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर में 2 फीसदी से भी ज़्यादा की गिरावट देखी गई।

कुछ साल पहले इंटरनेशनल मोनेटरी फंड ने भारतीय अर्थव्यवस्था को ‘ब्राइट स्पॉट’ के तौर पर चिन्हित किया था। लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था के जड़-जड़ होने के संकेत बहुत पहले से मिलने लगे थे। वित्त वर्ष 2019-20 में देश की जीडीपी 4.2 फीसदी पर थी। जबकि वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में जीडीपी में -23.9 फीसदी की ऐतिहासिक गिरावट ने सब तहस-नहस कर दिया।

रेटिंग एजेंसियों के मुताबिक़ वित्त वर्ष 2021 तक भारतीय अर्थव्यवस्था के करीब 10 फीसदी तक सिकुड़ने का अनुमान है। लेकिन वित्त मंत्री ने आरबीआई के हवाले से दावा किया है कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में सुधार की पूरी गुंजाइश है।

ताज़ा वीडियो