कृषि क़ानून के ख़िलाफ प्रदर्शन की तैयारी कर रहे थे किसान, बेटा सीमा पर शहीद

by GoNews Desk 11 months ago Views 2041

Farmers preparing to oppose agricultural law, son
पंजाब के तरन-तारन ज़िले के किसान कुलवैत सिंह का बेटा सुख़बीर सिंह जम्मू-कश्मीर में सीमा पर शहीद हो गया। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को कुलवैत सिंह मोदी सरकार के कृषि क़ानून के ख़िलाफ दिल्ली आने की तैयारी कर रहे थे, तभी उन्हें सेना की तरफ से फोन कर यह जानकारी दी गई। 

राइफलमैन सुख़बीर सिंह 18 जम्मू-कश्मीर राइफल्स (JAK RIF) में तैनात थे। उनकी उम्र महज़ 22 साल की थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उन्होंने एक साल 11 महीने तक देश की सेवा की। 


सेना की तरफ से फोन कॉल में जानकारी दी गई कि उनका बेटा ड्यूटी के दौरान जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में एलओसी पर दुश्मन की गोली से शहीद हो गया। सुख़बीर उन दो जवानों में एक हैं जो पाकिस्तान की तरफ से की गई गोलीबारी में शहीद हुए।

राइफलमैन सुख़बीर के पिता कुलवैत सिंह का कहना है कि वो एक महीने पहले ही बहन की शादी कर ड्यूटी पर लौटे थे। उन्होंने बताया कि सुख़बीर ने बहन की शादी के लिए पांच लाख रूपये का क़र्ज़ लिया था। सुख़बीर चार भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। उनकी दो बड़ी बहनें हैं जिनमें एक की शादी हुई है और एक बड़े भाई हैं।

राइफलमैन का पार्थिव शरीर शनिवार को उनके गांव खंडूर साहिब तहसील के खवसपुर गांव पहुंचने की उम्मीद है और उनका अंतिम संस्कार शनिवार को ही शाम तक किया जाएगा। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सुख़बीर के परिवार के लिए 50 लाख रूपये मदद राशी और परिवार के किसी शख्स को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है। 

ताज़ा वीडियो