ads

7वें दिन भी दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, बॉर्डर सील, यातायात व्यवस्था चरमराई

by Ankush Choubey 4 months ago Views 1330

टिकरी बॉर्डर, झारोदा बॉर्डर, झटिकरा बॉर्डर किसी भी ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद हैं। बदुसराय बॉर्डर केवल दोपहिया यातायात के लिए खुला है। 

Farmers' movement continues on 7th day of Delhi bo
कृषि क़ानून के ख़िलाफ़ सड़कों पर बीते एक हफ्ते से कड़ाके की ठंड और कोरोना महामारी के संकट के बीच भी किसान दिल्ली बॉर्डर पर डंटे हुए हैं। मंगलवार को केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच जो बातचीत हुई, उसमें कोई ठोस नतीजा नहीं निकल सका। इस वजह से किसानों ने कहा है कि उनका आंदोलन तबतक जारी रहेगा जबतक कि ये का़ानून वापस नहीं हो जाते हैं। किसानों ने अपनी मांगें पूरी होने तक आंदोलन से पीछे हटने से इनकार कर दिया है।

बुधवार की सुबह-सुबह दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर किसानों ने बैरिकेड्स हटा दिए। वे दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने की मांग कर रहे हैं। इस बीच सिंघु और टिकरी बॉर्डर के साथ-साथ नोएडा चिल्ला बॉर्डर को भी सील कर दिया गया। चिल्ला बॉर्डर की तरफ से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे हैं। 


दिल्ली बॉर्डर पर किसानों के बढ़ते प्रदर्शन के बीच दिल्ली पुलिस ने आनन-फानन में बॉर्डर सील कर दिया। जिस वजह से दिल्ली की यातायात व्यवस्था बिगड़ गई है। दिल्ली से नोएडा जाने के लिए लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसान प्रदर्शन की वजह से नोएडा-लिंक रोड को भी ब्लॉक कर दिया गया है। इसके बाद दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से नोएडा जाने के लिए नोएडा-लिंक रोड की बजाय एनएच-24 और डीएनडी का इस्तेमाल करने को कहा है। टिकरी बॉर्डर, झारोदा बॉर्डर, झटिकरा बॉर्डर किसी भी ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद हैं। बदुसराय बॉर्डर केवल दोपहिया यातायात के लिए खुला है। 

इस बीच  किसान मज़दूर संघर्ष कमेटी के एक सदस्य ने कहा कि हमारी जो कल बैठक हुई उसमें सरकार ने एक कमेटी बनाने की बात कही। लेकिन हमने पहले भी देखा है कि देश में कुछ भी घपला होता है, तो उसके लिए कमेटी बनती है।  लेकिन आज तक किसी भी कमेटी का हल नहीं निकला इसलिए हमारी मांग है कृषि कानूनों को जल्दी रद्द किया जाए।

सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, ग़ाज़ीपुर बॉर्डर समेत कई जगह किसानों का प्रदर्शन जारी है। इतना ही नहीं पंजाब और हरियाणा के किसानों ने अधिक संख्या में दिल्ली कूच की बात कही है। यानी आने वाले दिनों में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों की संख्या बढ़ सकती है। यूपी सीमा पर तैनात किसान पहले ही अस्थाई घर बनाने की बात कह चुके हैं।

ताज़ा वीडियो