पंजाब में किसान नौवें दिन भी पटरियों पर डटे, हरियाणा से किसान मार्च शुरु

by Ankush Choubey 1 year ago Views 1484

Farmers march on the ninth day in Punjab, now farm
विवादित कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. वैसे तो देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. लेकिन इसका  सबसे ज्यादा तपिश पंजाब में महसूस की जा रही है। कृषि क़ानूनों के खिलाफ गांधी जयंती के दिन भी पंजाब के किसानों का प्रदर्शन और रेल रोको आंदोलन जारी है.

राज्य में पिछले 9 दिनों से किसान लगातार सड़को पर है। अमृतसर में किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी रेल पटरी पर डटी हुई है और साफ़ कहा है की प्रदर्शन पांच अक्तूबर तक जारी रहेगा. वहीं गांव देवीदासपुर के रेलवे ट्रैक पर बैठी किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी को अबतक 31 किसान संगठनों का भी समर्थन मिल चुका है.


वही पड़ोसी राज्य हरियाणा से एक बार फिर किसानों ने दिल्ली के लिए कूच किया है. बड़ी संख्या में किसान दिल्ली के विजय घाट के लिए निकले हैं, जहां लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि देने जा रहे थे लेकिन कुंडली बार्डर के पास ही पुलिस ने किसानों को रोक लिया है. गाज़ियाबाद में भी किसान बड़ी संख्या में इकट्ठा हो रहे हैं और गाज़ियाबाद में यूपी गेट के पास भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. किसानों के रेल रोको आंदोलन की वजह से रेलवे की आवाजाही काफी प्रभावित हुई है.

पंजाब में 15 से ज्यादा ट्रेनों को शुक्रवार को रद्द कर दिया गया. जबकि कई ट्रेनों के रूट को डायवर्ट किया गया है. इस वजह से ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है.

इससे पहले गुरुवार की देर रात चंडीगढ़ में कृष‍ि क़ानूनों के ख‍िलाफ प्रदर्शन कर रहे अकाली दल के कार्यकर्तों पर पुलिस ने जमकर लाठी चार्ज किया. प्रदर्शन में शामिल होने जा रही पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर भी को पुलिस ने चंडीगढ़ सीमा पर  हिरासत में ले लिया.

लगातार तेज़ हो रहे किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वीडियो संदेश जारी कर किसानों की मांग को सही ठहराया है और मोदी सरकार पर निशाना साधा है. तीन अक्टूबर से पंजाब से दिल्ली तक ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी, जिसमें राहुल गांधी, कैप्टन अमरिंदर के साथ शामिल होंगे.

ताज़ा वीडियो