ads

तमिलनाडु: एमके स्टालीन ने कहा- सरकार मौतों का सही आंकड़ा जारी करे नहीं तो कोर्ट जाएंगे

by M. Nuruddin 11 months ago Views 3326

Explain why COVID-19 cases are increasing, Stalin
तमिलनाडु में बढ़ते कोरोनावायरस के मामलों पर डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने पूछा कि अगर राज्य में कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है तो राज्य में ख़ासकर चेन्नई में मामले इतनी तेज़ी से क्यों बढ़ रहे हैं ?

एक वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने सरकार से कोरोना से हो रही मौतों का सही ब्योरा मांगा है। बीते दिनों कोरोना मृतों की संख्या भिन्न होने पर उन्होंने कमिटी की रिपोर्ट जारी करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने अगले दो दिनों के भीतर कोरोना से सही मौतों का आंकड़ा जारी नहीं किया तो डीएमके कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाएगा।


डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन का दावा है कि 9 जून को नगर निगम ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन और राज्य सरकार ने मौत के आंकड़े जारी किए जो अलग अलग थे। उन्होंने कहा कि ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन की ओर से जारी आंकड़े बताते हैं कि 9 जून को राजधानी चेन्नई में 460 मौतें हुईं जबकि सरकारी आंकड़ों में 244 बताया गया।

उधर चेन्नई में बढ़ते कोरोना के मामलों पर सीएम ई. पलानिस्वामी ने स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ बैठक की। विशेषज्ञों ने राजधानी चेन्नई में लॉकडाउन में दी गई छूट में सख्ती करने की सिफारिश की है। विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि लॉकडाउन में सख्ती के बाद ही कोरोना संक्रमण को रोका जा सकता है।

लॉकडाउन का चौथा चरण खत्म होने के बाद से राज्य में हर रोज़ औसतन करीब दो हज़ार मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में कोरोना के कुल मामलों का 71 फीसदी से ज़्यादा सिर्फ चेन्नई में है। यहां संक्रमण के अबतक 31,896 मामले सामने आए हैं, जिनमें 344 लोगों की मौत हुई है।

लॉकडाउन में ढिलाई दिए जाने के बाद से मरीज़ों की रिकवरी दर में भी 3.2 फीसदी की गिरावट आई है।

तमिलनाडु में अबतक 44,661 कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। इनमें 435 मरीज़ों की मौत और 24,547 मरीज़ ठीक भी हुए हैं। अब राज्य में एक्टिव मरीज़ों की संख्या 19,679 हो गई है।

ताज़ा वीडियो