ads

किसान आंदोलन का आठवां दिन, 'पीएम मोदी ख़ुद करें किसानों के साथ बैठक, सभी 507 संगठनों से हो बात'

by Ankush Choubey 5 months ago Views 747

कृषि क़ानून के ख़िलाफ़ पंजाब और हरियाणा के किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं और अब इन्हें राजस्थान और गुजरात के किसानों का भी समर्थन मिल गया है।

Eighth day of Farmers agitation, 'PM Modi should m
कड़ाके की ठंड और कोरोना महामारी के बीच कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ सड़कों पर उतरे किसानों का आंदोलन लगातार आठवें दिन जारी है। इस आंदोलन की आग लगातार फैलती जा रही है। पिछली बार की विफल बातचीत के बाद आज दोबारा किसानों और सरकार के बीच वार्ता होगी। मगर इस बीच अब किसानों ने कहा है कि सरकार किसानों में फुट डालने की कोशिश कर रही है।

पंजाब किसान मज़दूर संघर्ष कमिटी के संयुक्त सचिव एसएस सुभरण ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार किसानों को बांटने की कोशिश कर रही है। जबतक पीएम मोदी ख़ुद सभी 507 किसान यूनियनों के नेताओं के साथ बैठक नहीं करेंगे, तब तक सरकार द्वारा बुलाई गई किसी भी बैठक में वह शामिल नहीं होंगे और सिंघु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। 


कृषि क़ानून के ख़िलाफ पंजाब और हरियाणा के किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं और अब इन्हें राजस्थान और गुजरात के किसानों का भी समर्थन मिल गया है। राजस्थान से करीब 500 किसान सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन में शामिल होने के लिए पहुंच रहे हैं।

राजस्थान के एक किसान ने बताया कि राजस्थान के लगभग 500 किसान जल्द ही यहाँ पहुँच रहे हैं। पीएम ने कई बार कहा कि एमएसपी को कोई ख़तरा नहीं है और उसे संरक्षित किया जाएगा। इसलिए सरकार को अब इसे लिखित रूप में रखने में क्या समस्या है? वहीं राजस्थान के आलावा अब दिल्ली में गुजरात से भी काफी संख्या में किसान पहुंचे हैं।

इस बीस आज पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और गृह मंत्री अमित शाह की मुलाकात होगी। दोनों के बीच किसान आंदोलन पर चर्चा हो सकती है। आंदोलनकारी किसानों में बड़ा हिस्सा पंजाब से है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि केन्द्र और पंजाब सीएम के बीच चर्चा से आंदोलन का कोई हल निकल सकता है।

किसानों के प्रदर्शन के कारण सिंधु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, चिल्ला बॉर्डर समेत राजधानी दिल्ली के कई बॉर्डर की बैरिकेडिंग कर दी गई है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी कर कहा है कि गुरुवार को भी नोएडा लिंक रोड पर स्थित चिल्ला बॉर्डर को बंद रखा गया है। यहां पर गौतमबुद्ध द्वार पर सैकड़ों किसान सड़क जाम करके बैठे हैं।

ताज़ा वीडियो