मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अविश्वास गहराया: आरबीआई

by Rahul Gautam 5 months ago Views 1674
Distrust on economy front deepens in Modi governme
देश में लगातार गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर चिंता बढ़ रही है। अब आरबीआई के ताज़ा आंकड़े बताते है की उपभोक्ताओ का विश्वास अर्थव्यवस्था के मौजूदा हालात और रोजगार को लेकर कमजोर हुआ है और भविष्य को लेकर भी चिंता बड़ी है। आरबीआई के अनुसार इस साल मार्च से अबतक कंस्यूमर कॉन्फिडेंस इंडेक्स में 15 अंक की गिरावट आ गयी है।    

आरबीआई के ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि मार्च 2019 में 100 अंकों के ऊपर रहने वाला कंज्यूमर कॉन्फिडेंस इंडेक्स नवंबर में लुढ़ककर 85.7 अंक पर आ गया है। इसका सीधा मतलब है कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के शुरुआती छह महीने में अर्थव्यवस्था को लेकर निराशा और अविश्वास बढ़ा है।

Also Read: विराट कोहली ने T20 क्रिकेट में बनाया नया रिकॉर्ड

आरबीआई ने यह रिपोर्ट जिन मानकों के आधार पर तैयार की है, लगभग उन सब में गिरावट दर्ज हुई है. आर्थिक हालात और रोज़गार पर आमराय नेगेटिव होती जा रही है। सितंबर में आर्थिक हालात को लेकर कॉन्फिडेंस इंडेक्स -14.4 पर था जो नवंबर में बढ़कर -21.6 पर आ गया। यानी हर महीने में उपभोक्ताओं के अविश्वास में बढ़ोतरी हो रही है. इसी तरह रोजगार के मोर्चे पर कॉन्फिडेंस इंडेक्स सितंबर में -24.5 पर था जो नवंबर में लुढ़ककर -33.1 पर पहुंच गया है।

आरबीआई के इस सर्वे में लोगों ने महंगाई पर भी चिंता ज़ाहिर की है. लोगों का मानना है कि पिछले एक साल में कीमतें बढ़ी हैं और आने वाले साल में और बढ़ेंगी। कॉन्फिडेंस इंडेक्स में महंगाई का आंकड़ा सितंबर में -82.8 था जो नवंबर में बढ़कर -83.9 हो गया है। इसी तरह आमदनी के मोर्चे पर इंडेक्स में -1.7 से बढ़कर -2.6 हो गया है।       

यह रिपोर्ट आरबीआई ने देश के 13 राज्यों, अहमदाबाद, बेंगलुरु, भोपाल, चेन्नई, दिल्ली, गुवाहाटी, हैदराबाद, जयपुर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, पटना और थिरुवनंतपुरम के 5334 घरों में सर्वे के आधार पर तैयार की है। इससे लगता है कि देश में अर्थव्यवस्था को लेकर लगातार चौतरफा निराशा के माहौल को छटने में वक़्त लगेगा।