लोकतंत्र को किया जा रहा खोखला, केंद्र एजेंसियों का कर रही दुरुपयोग: सोनिया गांधी

by GoNews Desk 1 year ago Views 1714

Democracy being hollow, misuse of central agencies
दशहरा पर्व के मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि विजय दशमी का सबसे बड़ा संदेश यह है कि शासन में लोग सर्वोपरि हैं और एक शासक की जिंदगी में अहंकार, झूठ और वादाखिलाफी की कोई जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि दशहरा अन्याय पर न्याय, असत्य पर सत्य और अहंकार पर विवेक की जीत का प्रतीक है।

सोनिया गांधी ने कहा, ‘दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र चौराहे पर है। अर्थव्यवस्था गहरे संकट में है। लोकतांत्रिक व्यवस्था के सभी स्तंभों पर हमले किए जा रहे हैं। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार को दमन और धमकी के सहारे छीनने की कोशिश की जा रही है। कई संस्थाएं जो बड़े पैमाने पर नागरिकों और समाज के अधिकारों को बनाए रखने के लिए हैं, उन्हें तोड़ा-मरोड़ा जा रहा है। भारत के लोकतंत्र को खोखला किया जा रहा है।’


सोनिया गांधी ने कहा, ‘शासन में जनता सर्वोपरि है और एक शासक की ज़िंदगी में अहंकार, झूठ और वादाखिलाफी की कोई जगह नहीं है। यह विजय दशमी का सबसे बड़ा संदेश है।’ कोरोना को देखते हुए सोनिया गांधी ने लोगों से सावधानी बरतने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि त्योहार के दौरान खुद को कोरोना वायरस से सुरक्षित रखें और कोविड से बचने के लिए बनाए गए सभी दिशा-निर्देशों का पालन करें।

उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार पर जांच एजेंसियों और सरकारी संस्थाओं को दबाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, ‘मोदी सरकार अतिशयोक्ति की कोई गुंजाइश नहीं छोड़ती है।  पुलिस, प्रवर्तन निदेशालय, केंद्रीय जांच ब्यूरो, राष्ट्रीय जांच एजेंसी और यहां तक कि नारकोटिक्स ब्यूरो। ये एजेंसियां अब सिर्फ प्रधानमंत्री और गृह मंत्री कार्यालय के धुन पर नाचती है। सत्ता को हमेशा संवैधानिक मानदंडों का पालन करना चाहिए और लोकतांत्रिक का सम्मान करना चाहिए।’

उन्होंने आगे कहा कि सरकारी मशीनरी का इस्तेमाल हमेशा सभी नागरिकों के हित में किया जाना चाहिए और इसमें कोई भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए। राजनीतिक मशीनरी का चुनिंदा राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाने के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

ताज़ा वीडियो