आंदोलनकारी किसानों ने दिल्ली को चौतरफ़ा घेरा, सीमाएँ सील, रास्ते जाम

by M. Nuruddin 1 year ago Views 1046

दिल्ली पुलिस के मुताबिक़ मुकरबा और जीटी करनाल हाइवे का ट्रैफिक भी डाइवर्टेड है। किसान अलग-अलग एंट्री प्वाइंट से दिल्ली में प्रवेश की कोशिश कर रहे हैं।

Delhi's borders closed, traffic divert, farmers ag
मोदी सरकार के नये कृषि क़ानूनों को निशाना बनाते हुए किसानों ने राजधानी दिल्ली को लगभग पूरी तरह से घेर लिया है।किसान आंदोलन की वजह से कई सिंघु, चिल्ला, ग़ाज़ीपुर और टिकरी बॉर्डर को बंद कर दिया गया है। इनके अलावा दिल्ली में प्रवेश के कई अन्य रास्तों पर भी पुलिस की तगड़ी पहरेदारी है। आंदोलन के समर्थन में कई अन्य राज्यों के किसानों के भी दिल्ली आने की ख़बर है।

सिंघु सीमा, उत्तरी दिल्ली को सोनीपत और जीटी करनाल हाइवे से जोड़ती है, जिसका इस्तेमाल हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर जाने के लिए होता है। टिकरी बॉर्डर, पश्चिमी दिल्ली के मुंडका को हरियाणा के रोहतक से जोड़ता है। चिल्ला और ग़ाज़ीपुर सीमा राजधानी दिल्ली को नोएडा और ग़ाज़िायाबाद से जोड़ती है।


दिल्ली पुलिस के एपीआरओ अनिल मित्तल ने दिल्ली के कई एंट्री प्वाइंट को बंद करने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लंपुर, औचांडी, साफ़ियाबाद, पियाओ मनियारी और साबोली सीमा को भी बंद कर दिया गया है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक़ ट्रैफिक को एनएच-8, भपोरा, अप्सारा सीमा और पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर डाइवर्ट कर दिया गया है।

किसान और केन्द्र की तीसरी बातचीत तक सिर्फ सिंघु और टिकरी सीमा को ही बंद किया गया था। लेकिन बैठक के बेनतीजा होने पर अगले दिन ही किसान दिल्ली के अलग-अलग एंट्री प्वाइंट पर पहुंच गये। किसानों का दिल्ली प्रवेश रोकने के लिए पुलिस ने नोएडा-लिंक रोड को भी ब्लॉक कर दिया। इनके अलावा झारोदा और झटिकरा सीमा भारी यातायात के लिए बंद है। बदुसराय सीमा से सिर्फ हल्के वाहनों की आवाजाही हो रही है।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक़ मुकरबा और जीटी करनाल हाइवे का ट्रैफिक  को भी डाइवर्ट किया गया है। किसान अलग-अलग एंट्री प्वाइंट से दिल्ली में प्रवेश की कोशिश कर रहे हैं। जबकि सिंघु और टिकरी सीमा पर हज़ारों की संख्या में किसान धरने पर डटे हुये हैं। शुक्रवार को हरियाणा के पलवल और मध्य प्रदेश से भी किसानों के सिंघु सीमा पहुँचने की ख़बर है।

पलवल के डिप्टी कमिश्नर नरेश नरवाल ने बताया कि मध्य प्रदेश से करीब 100 किसान पलवल पहुंच गये हैं और वे दिल्ली कूच कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अन्य 100 किसान पलवल से दिल्ली के लिए पैदल ही निकले हैं और उन्हें रोका नहीं जा रहा है। ट्रैफिक और सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त है।

जबकि फरीदाबाद पुलिस का कहना है कि किसानों को रोकने और लॉ एंड ऑर्डर सुनिश्चित करने के लिए 500 जवानों की तैनाती की गई है। सूत्रों के मुताबिक़ मध्य प्रदेश के किसानों को सिकरी और बदरपुर बॉर्डर पर रोकने की योजना है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सरकार की ओर से किसानों पर बल प्रयोग न किये जाने के निर्देश हैं।

ताज़ा वीडियो

ताज़ा वीडियो

Facebook Feed