कोरोना से बेतहाशा मौतों से दिल्ली के श्मशान घाटों पर दबाव बढ़ा

by Ankush Choubey 2 years ago Views 1862

Deaths from Corona increased pressure on Delhi's c
कोरोना महामारी से होने वाली बेतहाशा मौतों के चलते दिल्ली के श्मशान घाटों में हालात बिगड़ रहे हैं. हाल यह है कि श्मशान घाटों पर लाशों का ढेर लगा है और एक साथ दर्जनों लोगों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है. चुनौती बढ़ने पर साउथ दिल्ली म्यूनिसिपल कॉरपोरशन ने पंजाबी बाग़ का श्मशान घाट कोरोना से होने वाली मौतों के लिए रिज़र्व कर दिया है.

पंजाबी बाग श्मशान घाट अब रोजाना शवों से भर रहा है. घंटों इंतज़ार के बाद भी लोग अपने प्रियजनों का अंतिम संस्कार नहीं कर पा रहे हैं. यहां जारी दाह संस्कार के वीडियो वायरल हो रहे हैं. एमसीडी साउथ के मुताबिक गुरुवार दोपहर 3 बजे तक पंजाबी बाग़ श्मशान घाट पर 73 लाशें पहुंच चुकी थीं जबकि घाट 65 शवों के अंतिम संस्कार की क्षमता रखता है.


दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या पर भी हंगामा बढ़ रहा है. दिल्ली सरकार का दावा है कि अब तक राजधानी में 1,085 मौतें हुई हैं लेकिन एमसीडी दो हज़ार से ज़्यादा मौतों का दावा कर रही है.

वीडियो देखिए

कांग्रेस नेता अजय माकन ने भी दावा किया कि दिल्ली में कुल 2098 का कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार हुआ मगर सरकार सिर्फ 984 मौत दिखा रही है। साउथ डीएमसी में 1080, नार्थ डीएमसी 976, ईस्ट डीएमसी में 42 लोगों की मौत हुई। इस तरह दिल्ली में मृत्यु दर 6.4 फीसदी है जोकि देश में सबसे ज्यादा है या फिर गुजरात के बाद सबसे ज्यादा है।

कोरोना से होने वाली मौत के बाद लाशों के पास नहीं जाने के भी तमाम मामले सामने आए हैं. लाशें अस्पताल के गलियारों और मॉर्चरी में पड़ी मिली हैं. सुप्रीम कोर्ट ने इसपर स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा है कि हालात भयानक हैं. अस्पताल शवों को लेकर इस क़दर लापरवाह हैं कि घरवालों को इत्तेला तक नहीं दी जा रही.

ताज़ा वीडियो