कोरोना वायरस: लॉकडाउन में चौपट हो गया खेल

by Darain Shahidi 2 years ago Views 5535

Coronavirus Quarantines Global Sports
महामारी के इस दौर में दुनिया भर में खेल बंद है। खेल का व्यापार बंद है और अरबों डॉलर की कमाई पर ब्रेक लग गया है। बड़े बड़े स्टेडियम को क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील किया जा रहा है। हालत ये है कि खेल का सामान बनाने वाली कुछ कम्पनियां अब खेल के सामान छोड़कर अस्पतालों के लिए पीपीई किट्स बना रही हैं।

स्पोर्ट्स चैनेल वाले पुराने मैच दिखा रहे हैं। अब सवाल है कि नए मैच कब होंगे। आईपीएल होगा भी या नहीं। अभी तक आईपीएल को कैंसल नहीं किया गया है। इसके अलावा दुनिया भर में क्रिकेट, हॉकी फ़ुट्बॉल, बैस्कट्बॉल, बैड्मिंटन टेनिस गोल्फ़ फ़ॉर्म्युला वन ऐथ्लेटिक्स यहाँ तक की शतरंज की भी सभी प्रतियोगिता या तो पोस्ट्पोन कर दी गई है या कैंसल कर दी गई है। 


टोक्यो ओलिम्पिक पोस्ट्पोन कर दिया गया है। इससे पहले तीन बार वर्ल्ड वार की वजह से ओलिम्पिक गेम कैंसल हो चुके हैं लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि ओलिम्पिक गेम को टाल दिया गया हो।

दक्षिण कोरिया जैसे कुछ देश स्टेडीयम में मैच शुरू करवा रहे हैं लेकिन बिना दर्शकों के। पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर का कहना है कि अगले छह महीने तक नए मैचों को भूल जाइए। ओलिम्पिक गोल्ड मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा ने कहा है कि कोरोना की वजह से खेल की अरबों डॉलर की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है और इसे ठीक करने में काफ़ी वक़्त लगेगा। 

एक सर्वे के मुताबिक़ 2018 में ग्लोबल स्पोर्ट्स मार्केट की वैल्यू  488.5 बिलियन डॉलर आंकी गई थी और कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट (CAGR) के हिसाब से 2014 से 4.3% की दर बढ़ी है। कोरोना से पहले अंदाज़ा लगाया गया था कि 2022 तक 5.9% की दर से बढ़ कर ये वैल्यू 614.1 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगी। इसमें मीडिया, राइटस, मरकंडायिजिंग, टिकट और स्पान्सर्शिप सब शामिल है।

लेकिन सारा खेल चौपट हो चुका है। 

आइए आपको दिखाते हैं दुनिया भर में कौन कौन से बड़े टूर्नामेंट या तो पोस्ट्पोन कर दिए गए हैं या कैंसल कर दिए गए हैं।

क्रिकेट के सभी टूर्नामेंट खटाई में पड़े हुए हैं। बांग्लादेश, ऑस्ट्रेल्या, इंडिया, साउथ अफ़्रीका, न्यूज़ीलैंड का ऑस्ट्रेलिया दौरा और फिर ऑस्ट्रेलिया को न्यूज़ीलैंड जाना था और क्रिकेट की सबसे बड़ी लीग आईपीएल पर अभी तक कोई फ़ैसला नहीं लिया गया है। 

इनमें सिर्फ़ आईपीएल की ही वैल्यू 2019 में 6.7 बिलियन डॉलर आंकी गई है। बीसीसीआई के आंकड़ों के मुताबिक़ 2015 में आईपीएल ने भारत की जीडीपी में 160 मिलियन अमरीकी डॉलर का योगदान दिया था।  

इंग्लंड का श्रीलंका दौरा टाल दिया गया है। बांग्लादेश का पाकिस्तान दौरा। दक्षिण अफ़्रीक की सभी सीरिज़ टाल दी गई है। आई सी सी  कैलेंडर के और भी तमाम सिरीज़ टाल दी गई है। भारत के कुछ दौरे होने थे लेकिन उनपर फ़िलहाल बीसीसीआई ने अभी कोई घोषणा नहीं की है।

हॉकी में स्पेन, इंग्लैंड, जर्मनी और नीदरलैंड में बड़े टूर्नामेंट होते हैं, वो सब के सब ससपेंड कर दिए गए हैं। एशिया में सीनियर जूनीयर टूर्नामेंट पोस्ट्पोन कर दिए गए हैं। मलेशिया में होने वाली सुल्तान अज़लन शाह हॉकी अब सितम्बर में खेली जाएगी।

इतिहास में पहली बार ओलिम्पिक्स को पोस्ट्पोन किया गया है। इससे पहले वर्ल्ड वार की वजह से तीन बार ओलिम्पिक खेल नहीं हुए थे। एक दिलचस्प बात ये है की टोक्यो ओलंपिक्स 2021 में होंगे लेकिन कहलाएँगे टोक्यो 2020।

टेनिस के फैंस के लिए बुरी ख़बर है। फ़्रेंच ओपन अब बीस सितम्बर से चार अक्टूबर के बीच खेला जाएगा। विम्बल्डन कैन्सल कर दिया गया है। ऐसा वर्ल्ड वार-2 के बाद पहली बार हुआ है। 

पूरी दुनिया में फ़ुट्बॉल का सीज़न बीच में ही रुक गया। योरोप के सभी फ़ुट्बॉल टूर्नामेंट, इंग्लिश प्रीमियर लीग बुंदेसलिगा सेरी आ, स्पेन का ला लीगा, सब खटाई में हैं। UEFA चैंपियंस लीग बीच सीज़न में रुका पड़ा है। लेटिन अमेरिका में खेला जाने वाला अमेरिका कप कब खेला जाएगा पता नहीं।  

अमरीका में गोल्फ़ का बहुत बड़ा व्यापार है। US ओपन दुनिया की सबसे बड़ी प्रतियोगिताओं में से एक मानी जाती है। PGA टूर का यूरोपियन चैप्टर है ब्रिटिश ओपन जिसे THE OPEN के नाम से जाना जाता है। एक करोड़ डॉलर की इनामी राशि वाला ये टूर्नामेंट इस साल कैंसल हो गया है। 

बैड्मिंटॉन की कौन कौन सी प्रतियोगिताएँ होनी थी जो नहीं हो पाएँगी। ये देखिए। 
इंडिया ओपन स्विस ओपन ओर्लांस मास्टर्स, मलेशिया ओपन, सिंगापुर ओपन, इन सब प्रतियोगिताओं में भारतीय खिलाड़ी बहुत अच्छा प्रदर्शन करते रहे हैं। ये सब अब अगस्त तक के लिए ससपेंड कर दी गई हैं। 

टेबल टेनिस 
दक्षिण कोरिया के बूसान में मार्च के अंत में वर्ल्ड चैंपियनशिप होने वाली थी जिसे अब ओक्तूबर तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। 

रूस की राजधानी में अगस्त में होने वाला शतरंज का ओलिंपियाड इस साल नहीं होगा, अब इसे अगले साल खेला जाएगा। 

अमरीका में NBA बास्कट्बॉल करोड़ों डॉलर का उद्योग है। NBA बैस्कट्बॉल का सीज़न बीच में ही रोक दिया गया है, क्यूँकि उटाह जैज़ का एक खिलाड़ी रूडी गोबर्ट कोरोना पॉज़िटिव पाया गया था। 

इसके अलावा पूरी दुनिया में अलग अलग देशों में अपने अपने नैशनल स्पोर्टिंग इवेंट्स होते हैं सब बंद हैं।
 
सारा खेल चौपट हो गया है। 

खेलों की प्रतियोगिताओं को आयोजित करने पर कहीं आंशिक और कहीं पूरी पाबंदी है। दुनिया भर में स्पोर्टिंग इवेंट्स में सबसे अधिक भीड़ जुटती है। करोड़ों लोगों की ज़िंदिगियाँ इस उद्योग पर टिकी हैं। अब सवाल ये है की लॉकडाउन खुल भी गया तो इवेंट्स जल्दी नहीं करवा सकते क्यूँकि खिलाड़ी निकल नहीं पा रहे हैं और प्रैक्टिस नहीं हो पा रही है। स्पोंसर्स परेशान हैं। 

कोरोना से पहले की दुनिया और कोरोना के बाद की दुनिया बिलकुल अलग अलग है। पहले कहते थे कि जाओ घर से निकलो, खेलो, स्वस्थ रहो, जान है तो जहान है। अब कहते हैं घर पर रहो, बाहर मत निकलो। मत खेलो। क्यूँकि जान बची तो लाखों पाए।

ताज़ा वीडियो