दिल्ली में घटने लगी कोरोना की रफ़्तार, कमज़ोर पड़ी तीसरी लहर

by Rahul Gautam 1 year ago Views 1414

आज से सिर्फ 3 हफ्ते पहले दिल्ली में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं  ले रहा था। दिल्ली में 19 नवंबर को कोरोना से रिकॉर्ड मौतें हुईं थी। उस दिन 24 घंटों में 131 संक्रमित मरीजों की मौत हुई थी जबकि कोरोना संक्रमण के 7 हज़ार 486 नये मामले भी सामने आये थे।

Corona's speed starts decreasing in Delhi, weakene
आख़िराकर दिल्ली की मुसाबित बनी कोरोना की तीसरी लहर कमजोर पड़ने लगी है। बीते 24 घंटे में दिल्ली में 1674 नये कोविड-19 के मामले सामने आये। 3818 मरीज ठीक हुए और 63 लोगों की जान गँवाई। दिल्ली में अब तक कुल 9706 लोगों की जान जा चुकी है। राहत की बात यह है की दिल्ली में फ़िलहाल रिकवरी रेट 94 फीसदी तक पहुंच गया है।

आज से सिर्फ 3 हफ्ते पहले दिल्ली में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं  ले रहा था। दिल्ली में 19 नवंबर को कोरोना से रिकॉर्ड मौतें हुईं थी। उस दिन 24 घंटों में 131 संक्रमित मरीजों की मौत हुई थी जबकि कोरोना संक्रमण के 7 हज़ार 486 नये मामले भी सामने आये थे। इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 का रिकवरी रेट लुढ़ककर 89.98 फीसदी  हो गया था।


दरअसल, दिल्ली में सर्दी की दस्तक के साथ ही कोरोना के मामले बढ़ने लगे थे। मसलन नवंबर 8 को दिल्ली में 7745 मामले सामने आये थे। उस समय दिल्ली में पाजिटिविटी रेट 15.2 फीसदी था। इसी तरह 15 नवंबर को 3235 मामले सामने आये थे और पाजिटिविटी रेट 15.3 फीसदी पहुंच गया। लेकिन इसके बाद कोरोना की रफ़्तार थमनी शुरू हई। नवंबर 22 को नये मामलों का आँकड़ा 6746, 29 नवंबर को 4906 और 6 दिसंबर को यह और घटकर 2706 पर आ गया।

यह वही समय है जब दिल्ली सरकार ने लोगों पर सख्ती दिखाते हुए, कोरोना नियमों का पालन न करने वालों पर जुर्माना 500 रुपए से बढ़ाते हुए 2000 रुपए कर दिया था। साथ ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी पैरामिलिट्री फोर्स से डॉक्टर, साजो-सामान मुहैया कराया था। दोनों सरकार की कोशिशों का असर दिख रहा है।

कोरोना की घटी रफ़्तार का श्रेय दिल्लीवालो को भी जाता है। लेकिन दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर में स्थिति को लेकर प्रशासन कोई खतरा मोल लेना नहीं चाहता। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते ही गौतमबुद्ध नगर में 2 जनवरी तक धारा 144 लागू कर दी गयी है। ध्यान रहे, उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली बार्डर पर बढ़ रहे है और  प्रशासन न नहीं चाहता की किसी तरह का भी ऐसा जमावड़ा हो जिसकी वजह से कोरोना के मामले बढ़ें

ताज़ा वीडियो