ads

कम हुआ देश में कोरोना का कहर, एक्टिव केस की संख्या 8 लाख से भी कम

by Ankush Choubey 6 months ago Views 1876

Corona havoc decreasing in the country, the number
भारत में कोरोना महामारी के प्रकोप पर अब कुछ हद तक लगाम लगनी शुरू हो गई है. देश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में बीते कुछ दिनों से गिरावट देखने को मिल रही है, जबकि कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर भी काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है.  यही कारण है कि देश में कोरोना संक्रमण के एक्टिव केस 8 लाख से भी कम रह गए हैं, जो कि डेढ़ महीने पहले का स्तर है.

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक बीते डेढ़ महीने के दौरान कोरोना के नए मामले जिस तेजी से बढ़े उतनी ही तेज उनके ठीक होने का दर भी रहा. भारत में अब तक 64 लाख 50 हज़ार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमण को मात देकर ठीक हो चुके हैं.जबकि देश में अब तक 73 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं, जबकि अब तक कुल 1,12,161 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है.


सितंबर महीने के मुकाबले अक्टूबर के शुरुआती 15 दिनों की अवधि में कोविड-19 संक्रमण के नए मामलों में करीब 18 फीसदी की गिरावट देखी गई. सितंबर महीने की शुरुवात में कुल एक्टिव केस 7 लाख 85 हज़ार थे, लेकिन 19 सितंबर तक देश में एक्टिव मरीज़ों की संख्या बढ़कर 10 लाख के पार पहुंच गई थी.

फिर 29 सितंबर आते-आते एक्टिव केसों की संख्या 9 लाख 60 हज़ार होगई और अब 17 अक्टूबर को देश में एक्टिव केसों की संख्या 7 लाख 95 हज़ार हो चुकी है. साफ़ है कि एक्टिव कासिओं में लगातार कमी दर्ज की जा रही है.  वहीं कोरोना से होने वाली मौतों की बात करें तो इसमें भी करीब 19 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. जहाँ सितम्बर में प्रतिदिन एक हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो रही थी, वहीँ अब यह आंकड़ा 700 से 850 के बीच हो गई है.

सितंबर महीने के अंत और अक्टबूर के शुरुआती दिनों में जहां कोरोना के नए मामलों की संख्या एक लाख की संख्या छूने के बिल्कुल करीब पहुंच गई थी, वहीं अब नए मामले औसतन 60 से 70 हजार के बीच ही रह रहे हैं.  इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि भारत में कोविड-19 के तीन टीकों को विकसित करने का काम प्रगति पर है.

उनमें से एक क्लीनिकल परीक्षण के तीसरे चरण में है, जबकि दो अन्य दूसरे चरण के परीक्षण में हैं. उन्होंने कहा कि सर्दियों और त्योहारों के मौसम में सभी की जिम्मेदारी है कि वह एहितयात में कमी ना करें और संक्रमण को रोकने के लिए कोविड-19 से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन करें.

ताज़ा वीडियो