ads

कारोबार ठप, शेयर बाज़ार अप

by Pankaj Pachauri 9 months ago Views 10031

Business stalled, stock market ups
कोरोना वायरस महामारी के बीच कारोबार ठप है लेकिन स्टॉक मार्केट उछाल पर है। क्या ये सरकार द्वारा घोषित आर्थिक पैकेज का असर है या इसके पीछे कारण कुछ और हैं ? देखिए गोन्यूज़ के एडिटर-इन-चीफ पंकज पचौरी ने वैश्विक अर्थव्यवस्था और स्टॉक बाज़ार का विश्लेषण किया है।

कोरोना महामारी के इस दौर में दुनियाभर की अर्थव्यवस्था बुरे हालात से गुज़र रही है। आईएमएफ यानि इंटरनेशनल मोनेटरी फंड के ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि दुनियां की अर्थव्यवस्था जहां 2019 में आगे बढ़ रही थी वो अब पीछे जा रही है। आंकड़ों के मुताबिक़ साल 2020 में दुनियाभर की अर्थव्यवस्था में 4.9 फीसदी की गिरावट आएगी। हालांकि 2021 में ग्रोथ रेट 5.4 फीसदी तक पहुंचने का अनुमान है।


वीडियो देखिये

रिपोर्ट के मुताबिक़ दुनिया की सबसे बड़ी अमेरिका की अर्थव्यवस्था 8 फीसदी तक कम हो सकती है। ऐसे ही हालात जर्मनी, फ्रांस, इटली, जापान, ब्रिटेन और भारत के भी हैं। हालांकि रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन की इकोनॉमी पर कोई ख़तरा नहीं है।

हालांकि गिरती दुनिया की अर्थव्यवस्था के बीच स्टॉक मार्केट में उछाल है। मार्च महीने में आई गिरावट के बाद अब स्टॉक बाज़ार दोड़ पड़ा है। लेकिन देश की 50 बड़ी कंपनियां निफ्टी-50 अबतक उबर नहीं पाई है। जनवरी से अबतक इन बड़ी कंपनियों के शेयर में 15 फीसदी तक की गिरावट आ चुकी है।

वहीं देश की आईटी कंपनियों का भी हाल बुरा है। जनवरी से अबतक निफ्टी आईटी में सात फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली है। जबकि फार्मा कंपनियों का शेयर आसमान छू रहा है। इसी साल जनवरी महीने से अबतक इन निफ्टी फार्मा में 27 फीसदी तक का उछाल देखने को मिला है। यही वजह है कि देश का स्टॉक बाज़ार उछाल पर है।

उधर कोरोना वायरस से सबसे ज़्यादा प्रभावित अमेरिका के स्टॉक बाज़ार में भी हालात सुधर रहे हैं। यहां नैसडैक जिनमें आईटी कंपनियां शामिल है, के शेयर में सबसे ज़्यादा 11.68 फीसदी तक का उछाल देखने को मिला है। वहीं एस एंड पी 500 जिनमें लगभग सभी कंपनियां लिस्टेड होती हैं, इसके शेयर भी अब सुधर रहे हैं। इसके साथ शेयर में आई भारी गिरावट के बाद इंडस्ट्रियल कंपनियों में भी सुधार देखने को मिल रहा है।

ताज़ा वीडियो