पुलिस में महिलाओं की हिस्सेदारी बढ़ाने में बिहार सबसे आगे, हरियाणा में गिरावट

by Siddharth Chaturvedi 8 months ago Views 3775

रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले तीन सालों में तकरीबन सभी राज्यों के पुलिस विभाग में महिलाओं की नियुक्ति बढ़ी है

Bihar leads in increasing the share of women in po
भारत में महिला सशक्तिकरण के दावे भले ही ज़ोर शोर से किए जाते हों लेकिन पुलिस विभाग में महिलाओं की हिस्सेदारी निराश करने वाली है। इंडिया जस्टिस की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि भारत में हर दस पुलिसकर्मियों में मात्र एक महिला पुलिस है। अगर अधिकारी रैंक में महिलाओं की हिस्सेदारी देखें तो हर 100 पुरुष अधिकारियों में महज़ सात अधिकारी महिला हैं।

टाटा ट्रस्ट ने कुछ अन्य संस्थानों के सहयोग से इंडिया जस्टिस रिपोर्ट 2020 जारी की है। यह रिपोर्ट देश के अलग-अलग राज्यों की न्याय करने की क्षमता का आकलन करती है। इंडिया जस्टिस रिपोर्ट चार श्रेणियों में सर्वे के आधार पर तैयार की गई है: पुलिस, न्यायपालिका, जेल और कानूनी मदद।


2009 में केंद्र ने पुलिस विभाग में महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण का नियम बनाया था। इसके बाद बिहार अकेला ऐसा राज्य है जहाँ इसे लेकर सक्रीयता देखी जा सकती है। यहाँ पुलिस विभाग में महिलाओं की हिस्सादारी 25.3 फीसदी है यानि हर चार में एक पुलिसकर्मी महिला है। बिहार पुलिस विभाग में महिलाओं का प्रतिनिधित्व 38 फीसदी करने का लक्ष्य है। हालांकि बिहार में अधिकारी स्तर पर महिलाओं की भागीदारी महज़ 6.1 फीसदी है।

इंडिया जस्टिस रिपोर्ट 2020 के मुताबिक अगर बिहार में इसी रफ्तार से पुलिस विभाग में महिलाओं की हिस्सेदारी बढ़ती रही तो लक्ष्य तक पहुंचने में तीन से 18 साल का वक्त लग सकता है। वहीं तमिलनाडु ने भी महिलाओं की पुलिस में भागीदारी बढ़ाने का अच्छा काम किया है। यहां पुलिस विभाग में महिलाओं की कुल हिस्सेदारी 18.5 फीसदी है। जबकि अधिकारी रैंक में महिलाओं की हिस्सेदारी 25 फीसदी है। यानी यहाँ हर चार पुलिस अधिकारी में एक महिला अधिकारी है।

इसी तरह हिमाचल प्रदेश पुलिस में हर पांच में एक पुलिसकर्मी महिला है। वहीं महिला मुख्यमंत्री के नेतृत्व वाले राज्य पश्चिम बंगाल में पुलिस में महिलाओं की हिस्सेदारी महज़ 9.7 फीसदी है जबकि महिला पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी बेहद कम है। राजधानी दिल्ली में 12.3 फ़ीसदी महिला पुलिसकर्मी है। दिल्ली में 100 पुलिस अधिकारियों में करीब 11 महिलाएँ हैं। वहीं उत्तर प्रदेश पुलिस में भी महिलाओं का प्रतिनिधित्व कमज़ोर है, यहां पर हर 10 पुलिसकर्मियों में महज़ एक पुलिसकर्मी महिला हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक झारखंड में हर 100 में सात पुलिसकर्मी महिला है। अधिकारियों की बात करें तो हर 100 पुलिस अधिकारी में मात्र 3.4 अधिकारी महिला हैं। इसी तरह मध्य प्रदेश, तेलंगाना भी देश के उन राज्यों में शामिल हैं जहां पुलिस में महिलाओं की भागीदारी काफ़ी कम है। मध्य प्रदेश में 100 में मात्र 6 पुलिसकर्मी महिला हैं, वहीं तेलंगाना में 100 पुलिसकर्मियों में मात्र पांच ।

रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले तीन सालों में तकरीबन सभी राज्यों के पुलिस विभाग में महिलाओं की नियुक्ति बढ़ी है। हालांकि हरियाणा एकमात्र राज्य है जहाँ महिला पुलिसकर्मियों की नियुक्ति में गिरावट आई है।

ताज़ा वीडियो