ads

बिहार: कोरोना महामारी में पहला चुनाव कैसा होगा, चुनाव आयोग ने बताया

by Ankush Choubey 7 months ago Views 1594

Bihar: how elections will happen in corona pandemi
केंद्रीय चुनाव आयोग के ऐलान के बाद बिहार में विधानसभा चुनाव का आधिकारिक बिगुल बज चुका है. राज्य में तीन चरण 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को चुनाव होंगे. वोटों की गिनती 10 नवंबर को शुरू होगी और उसी दिन नतीजे आएंगे.

चुनाव आयोग के मुताबिक पहले चरण में 16 ज़िलों की 71 सीटों, दूसरे चरण में 17 ज़िलों की 94 सीटों और तीसरे चरण में 15 ज़िलों की 78 सीटों पर वोटिंग की जाएगी. कोरोना महामारी के बीच देश में यह पहला बड़ा चुनाव है जिसके लिए ख़ास इंतज़ाम किए गए हैं. मुख्या चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि इस बार पोलिंग स्टेशन की संख्या और मैनपावर को बढ़ाया गया है.


बिहार में 2020 के चुनाव में कुल मतदाता 7 करोड़ 79 लाख मतदाता है जिनमें महिला 3 करोड़ 39 लाख महिला मतदाता हैं. इस बार एक बूथ पर सिर्फ एक हज़ार मतदाता ही होंगे और वोटिंग एक घंटा पहले सुबह सात बजे शुरू होकर शाम 7 बजे तक चलेगी. मतदान के आखिरी घंटे में सिर्फ कोरोना संक्रमित और क्वारंटाइन में रह रहे लोगों के लिए वोट डालने का इंतज़ाम किया गया है.

चुनाव आयोग ने चुनाव प्रचार के लिए तमाम पाबंदियां लगाई हैं. इस बार पर्चा दाख़िल करने के लिए ऑनलाइन का भी विकल्प होगा. वहीं दफ़्तर में जाकर पर्चा भरते वक़्त उम्मीदवार के साथ सिर्फ दो लोग मौजूद रहेंगे. इसके अलावा घर-घर जाकर चुनाव प्रचार के दौरान सिर्फ पांच लोगों को इजाज़त होगी. कोरोना महामारी की वजह से इस बार बचाव के ज़रूरी सामान भी पोलिंग बूथ पर होंगे. इनमें 46 लाख मास्क, 6 लाख पीपीई किट, 7 करोड़ 20 लाख सिंगल यूज़ हैंड ग्लव्स और 7 लाख हैंड सैनिटाइजर होंगे.

बिहार में पिछला विधानसभा चुनाव 2015 में हुआ था जिसमें आरजेडी-जेडीयू और कांग्रेस के महागठबंधन ने बीजेपी को ज़बरदस्त हार का मज़ा चखाया था. तब 100 सीटों पर चुनाव लड़ी आरजेडी को 80 और इतनी ही सीटों पर लड़ी जेडीयू को 71 सीटों पर जीत मिली थी. बीजेपी महज़ 53 सीटों पर सिमट गई थी. हालांकि डेढ़ साल बाद 26 जुलाई 2017 को सीएम नीतीश कुमार ने महागठबंधन से अलग होकर बीजेपी से हाथ मिला लिया था.

ताज़ा वीडियो