बंगलुरू हिंसा: आग़ज़नी-तोड़फोड़ के बीच मुस्लिम युवक बने मंदिर की ढाल

by M. Nuruddin 1 year ago Views 1713

Bengaluru: Amid violence, a group of Muslim youth
सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट डालने से कर्नाटक की राजधानी बंगलुरू में हिंसा भड़क गई। हिंसा को क़ाबू करने के लिए की गई पुलिस फायरिंग में तीन लोग मारे जा चुके हैं जबकि 110 लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है। पूर्वी बंगलुरू के डीजे हल्ली और केजी हल्ली सर्वाधिक प्रभावित इलाक़े हैं जहां दंगाइयों ने सैकड़ों गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया लेकिन उसी रात कुछ लोगों ने इंसानियत को ख़ाक होने से बचा लिया।

दरअसल, विवादित पोस्ट डालने वाले शख़्स की शिनाख़्त नवीन के रूप में हुई है जो पुलिकेशिनगर से कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति का भतीजा है। गुस्साई भीड़ जब विधायक के घर पर तोड़फोड़ कर रही थी तभी इलाके के और मुसलमानों ने विधायक के घर के पास बने हनुमान मंदिर को अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया।


देर रात हुई हिंसा के कई वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। उन्हीं में से एक वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे मुस्लिम युवाओं ने हनुमान मंदिर को मानव-श्रंखला बनाकर दंगाइयों के नुक्सान से उसे दूर रखा। पूरी घटना डीजे हल्ली पुलिस स्टेशन की है जहां मंगलवार देर रात हिंसा और आग़ज़नी हुई है।

हिंसा में 60 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और तीन लोगों की मौत हो गई है। इस मामले में पुलिस ने सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता मुज़म्मिल पाशा समेत 100 से ज़्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है।

बंगलुरू सिटी पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने बताया कि शहर में स्थिति अब क़ाबू में है। उन्होंने बताया कि डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशन समेत पूरे शहर में धारा 144 लागू की गई है। उन्होंने कहा कि शहर में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए आरएएफ या रैपिड एक्शन फोर्स, सीआरपीएफ और सीआईएसएफ के जवानों की तैनाती की गई है।

ताज़ा वीडियो