अमेरिका, अमेरिकी और बंदूक: एक हफ्ते में 50 पर गोलीबारी, कम से कम 20 की मौत

by M. Nuruddin 8 months ago Views 3117

America, Americans And Gun:  Atleast 20 Killed Wit
अमेरिका में पिछले एक हफ्ते के भीतर सात बड़ी मास शूटिंग की वारदात सामने आई है। अटलांटा स्पा शूटिंग की घटना के बाद कोलोराडो में दस लोग मारे गए हैं। अलग-अलग राज्यों में हुई इन दो वारदातों से अमेरिका में बंदूक नियंत्रण क़ानून को लेकर भी बहस छिड़ गई है, जहां बंदूक रखना आम है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पिछले सात दिनों के दौरान करीब 50 लोगों पर गोलीबारी की गई जिसमें कम से कम 20 लोग मारे गए।

कोलोराडो मास शूटिंग


हालिया घटना अमेरिका के पश्चिमी राज्य कोलोराडो के बॉल्डर शहर की है, जहां 22 मार्च को हुई गोलीबारी में एक 51 वर्षीय पुलिसकर्मी एरिक टेली (Eric talley) की मौत हो गई। इस वारदात में कुल दस लोग मारे गए। बॉल्डर पुलिस प्रमुख मैरिस हेरोल्ड ने बताया कि इस वारदात के बाद एक संदिग्ध को हिरासत में लिया गया है। पुलिस के मुताबिक़ शूटर ने कोलोराडो के सुपर मार्केट में किंग सूपर्स ग्रोसरी स्टोर के पास गोलीबारी की थी।

कोलोराडो पुलिस के मुताबिक शूटर ने AR-15-स्टाइल राइफल से गोलीबारी की। सुपरमार्केट में मौजूद लोगों ने इस वारदात की वीडियो सोशल मीडिया पर साझा की है। मौके से पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार भी किया। हालांकि यह साफ नहीं है कि पुलिस की गिरफ्त में आया शख़्स ही मास शूटर है।

अटलांटा स्पा शूटिंग

इससे पहले 16 मार्च को अमेरिकी राज्य ज्योर्जिया की राजधानी अटलांटा में तीन स्पा में गोलीबारी हुई थी। न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक़ इस वारदात में एशियाई मूल की छह महिलाओं समेत आठ लोगों की मौत हुई थी। पुलिस ने शूटिंग में मारे गए लोगों का नाम साझा किया है जिसमें Xiaojie Tan, Daoyou Feng, Delaina Yaun, Paul Andre Michels, Chung Park, Hyun Jung Grant, Yong Ae Yue, and Suncha Kim शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ सभी लोग एक सामान्य परिवार से आते हैं और यह लोग स्पा में काम किया करते थे।

इस मास शूटिंग के मामले में अटलांटा पुलिस ने एक शख़्स को गिरफ्तार किया था। पुलिस के मुताबिक़ आरोपी शख्स ने कबूल किया है कि उसको ‘सेक्शुअल एडिक्शन’ है और उसने अपने ‘टेम्पेटेशन’ को ख़त्म करने के लिए मसाज पार्लर में गोलीबारी की। आरोपी ने यह भी कबूल किया है कि उसने पहले भी मसाज पार्लरों को निशाना बनाया था और गोलीबारी की थी।

शूटिंग सीरीज

अमेरिका के पश्चिमी राज्य कैलिफोर्निया के स्टॉकटन में 17 मार्च को पांच लोगों पर गोलीबारी की गई। हालांकि इस वारदात में किसी की मौत नहीं हुई। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था और सभी लोग ख़तरे से बाहर हैं। 18 मार्च को ईस्ट पोर्टलैंड मे Gresham शहर में गोलीबारी हुई। इस वारदात में चार लोग घायल हुए थे और पुलिस ने सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया था।

इनके अलावा शनिवार के दिन अमेरिका के कई राज्यों में बंदूक के गोलियों की आवाज़ गूंजी। 20 मार्च को हुई घटना में तीन शहरों Houston, Dallas और Philadelphia में कम से कम 20 लोग चपेट में आए और दो लोगों की मौत हो गई।

इनके अलावा इसी साल के जनवरी महीने की 9 और 24 तारीख़ की गोलीबारी की घटना में दस लोग मारे गए थे। जबकि 2 फरवरी की Oklahoma गोलीबारी में छह और 13 मार्च की Indianapolis की घटना में चार लोग मारे गए थे।

अमेरिका में ‘Gun Culture’

पिछले एक हफ्ते में गोलीबारी की इस वारदात से अमेरिका के कथित ‘गन कल्चर’ को लेकर भी सवाल उठ रहा है। देश के बंदूक नियंत्रण क़ानून के समीक्षा की बात भी कही जा रही है। वैसे अमेरिका में गन कंट्रोल काफी बड़ा और संवेदनशील मुद्दा है क्योंकि अमेरिकी,  हथियार को निजी आज़ादी के साथ जोड़कर देखते हैं। एक स्टडी के अनुसार औसतन हर 100 अमेरकी नागरिक के पास 120 बंदूकें हैं।

हालांकि कुछ आधिकारिक बंदूक हिंसा के आंकेड़े मौजूद हैं जिससे पता चलता है कि हर साल हज़ारों लोग गोलीबारी में मारे जाते हैं। अमेरिकी Centers for Disease Control and Prevention के आंकड़े बताते हैं कि साल 2019 में बंदूक हिंसा से जुड़ी घटनाओं में करीब 40 हज़ार लोग मारे गए थे।

इतना ही नहीं कोरोना महामारी के बीच अमेरिका में लोगों ने भारी संख्या में हथियारों की ख़रीद की। अमेरिकी संस्था नेशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फ़ाउंडेशन की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि साल 2020 में एक करोड़ 72 लाख बंदूकें बिकी और इनमें 50 लाख बंदूकें उन लोगों ने खरीदी है जिनके पास बंदूक न चलाने का और ना ही पकड़ने का ही अनुभव है।

ताज़ा वीडियो