उन्नाव रेप: धरने पर बैठे अखिलेश यादव ने योगी का इस्तीफ़ा मांगा, प्रियंका गांधी उन्नाव पहुंचीं

by Ankush Choubey 2 years ago Views 1888

Akhilesh Yadav sat on a dharna outside the assembl
उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी की योगी सरकार चौतरफा घिर गई है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानसभा के बाहर धरने पर बैठ गए हैं और योगी आदित्यनाथ पर ज़ोरदार हमला बोला है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार में यह पहली घटना नहीं है और उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के लिए योगी सीधेतौर पर ज़िम्मेदार हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ, डीजीपी ओ पी सिंह और गृह सचिव अवनीश अवस्थी को अपने पद से इस्तीफ़ा दे देना चाहिए।

समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया है, 'दोषियों को छोड़ना नहीं,मैं मरना नहीं जीना चाहती हूँ...'ज़िंदगी की जंग हारी उन्नाव की बेटी के ये अंतिम शब्द स्तब्ध कर देते हैं! इस निर्मम हत्या की सहभागी है पुलिस, सरकार एवं बाधित न्याय व्यवस्था। समाजवादी पार्टी आज बेटी के लिए शोक सभा आयोजित करेगी और सभी 2 मिनट का मौन रखेंगे।’


वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी यूपी की योगी सरकार पर हमला किया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार को तत्काल पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसका FIR दर्ज करने से मना किया उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है? प्रियंका गांधी रेप पीड़िता के परिवार से मुलाक़ात के लिए लखनऊ से उन्नाव के लिए रवाना हो गई हैं.

प्रियंका गांधी ने एक और ट्वीट किया, ‘मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़िता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दे। यह हम सबकी नाकामयाबी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए। सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं लेकिन ये उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून व्यवस्था को भी दिखाता है।’

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत शुक्रवार रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हुई. पीड़िता अपने मुक़दमे की सुनवाई के लिए उन्नाव से रायबरेली जा रही थी कि रास्ते में बलात्कार के अभियुक्तों समेत पांच लोगों ने उसपर केरोसिन का तेल छिड़ककर आग लगा दी.

मुलज़िमों की पहचान हरिशंकर त्रिवेदी, राम त्रिवेदी, शिवम त्रिवेदी, शुभम त्रिवेदी और उमेश बाजपेई के रूप में हुई है. योगी सरकार ने कहा कि इस केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगी.

ताज़ा वीडियो