धारा 144 तोड़ने के आरोप में एएमयू के 700 छात्रों पर मुक़दमा दर्ज

by Rahul Gautam 4 months ago Views 911
700 students of AMU sued for breaking section 144
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कैंपस में घुसकर पुलिसिया कार्रवाई से नाराज़ स्टूडेंट्स 15 दिसंबर से ही वीसी प्रोफ़ेसर तारिक़ मंसूर और रजिस्ट्रार अब्दुल हामिद के इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं. 26 जनवरी को एक बार फिर स्‍टूडेंट्स और यूनिवर्सिटी प्रशासन के बीच विवाद बढ़ गया और अब अलीगढ़ पुलिस ने 700 छात्रों के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज कर ली है. 

अलीगढ़ पुलिस ने धारा 144 तोड़ने के आरोप में 600-700 अज्ञात स्टूडेंट्स पर मुकदमा दर्ज किया है. यह विवाद उस वक़्त शुरू हुआ जब एएमयू के वाइस चांसलर प्रोफ़ेसर तारिक़ मंसूर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर भाषण दे रहे थे कि तभी छात्रों ने उनके ख़िलाफ़ नारेबाजी शुरू कर दी. इस दौरान अलीगढ़ पुलिस ने चार छात्रों को हिरासत में लिया और इनमें से एक छात्र अहमद मुजतबा फ़राज़ को जेल भेज दिया. 

Also Read: इस बार के आम बजट से लोगों को क्या उम्मीदें हैं?

अपने साथी की रिहाई के लिए नाराज़ एएमयू स्टूडेंट्स अलीगढ के चुंगी गेट पर जमा हो गए और रिहाई की मांग करने लगे. पुलिस ने यहां से छात्रों को हटाने की कोशिश की लेकिन भीड़ बढ़ती गई. इसके बाद अलीगढ़ पुलिस ने 600 से 700 अज्ञात एएमयू स्टूडेंट्स के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज कर लिया है. इन पर धारा 144 उल्लंघन का आरोप है.

यह पहला मामला नहीं है कि एएमयू में स्टूडेंट्स पर इतने बड़े पैमाने पर मुक़दमे की कार्रवाई की गई हो, इससे पहले कैंडल मार्च निकालने पर एएमयू के 1000 से ज्यादा छात्रों पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

वीडियो देखिये

मुक़दमे की इस कार्रवाई के पीछे 15 दिसंबर की रात एएमयू कैंपस में हुई पुलिसिया बर्बरता है. स्टूडेंट्स का आरोप है कि वीसी तारिक़ मंसूर की शह पर पुलिस कैंपस में घुसी और स्टूडेंट्स के साथ क्रूरता की सारी सीमाएं पार कर दीं. इसी वजह से नाराज़ स्टूडेंट्स अपने वाइस चांसलर प्रोफ़सर तारिक़ मंसूर और रजिस्ट्रार अब्दुल हामिद के इस्तीफ़े की मांग लेकर आंदोलन कर रहे हैं. इसे लेकर स्टूडेंट्स और यूनिवर्सिटी प्रशासन के बीच बार-बार टकराव के हालात पैदा हो रहे हैं और क़ानून व्यवस्था का हवाला देकर अलीगढ़ पुलिस बार-बार छात्रों पर मुक़दमा दर्ज कर रही है.