बारिश और बाढ़ से तेलंगाना में 70 की मौतें, कर्नाटक में भी 15 की गई जान

by Ankush Choubey 1 year ago Views 1175

70 deaths in Telangana due to rain and floods; 15
तेलंगाना में बारिश और बाढ़ से संबंधित घटनाओं में  मरने वालों की संख्या बढ़कर 70 हो गई है. जबकि सिर्फ राजधानी हैदराबाद में 50 ज्यादा लोग अपनी जान गवां  चुके हैं. तेलंगाना के शहरी विकास मंत्री के टी रामा राव ने बताया कि पिछले एक सप्ताह में राज्य में बारिश से संबंधित घटनाओं में 70 लोगों की मौत हुई है. उन्होंने अगले दो दिनों में भारी बारिश के मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के मद्देनजर निचले क्षेत्रों में रह रहे लोगों से अपील की है कि वह राहत शिविरों में चले जाएं.

उन्होंने ने बताया कि राजधानी हैदराबाद में साल 1908 के बाद दूसरी बार रिकॉर्ड भारी बारिश हुई जिससे राज्य सराकर को निचले क्षेत्रों में रहनेवाले करीब 37 हज़ार  लोगों को राहत शिविरों में भेजना पड़ा.


इस संकट की स्थिति को देखते हुए तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने चंद्रशेखर राव ने आज घोषणा की है कि बारिश में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए सभी घरों को एक-एक लाख रुपये की सहायता दी जाएगी और आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए लोगों को 50 हज़ार रुपये दिए जाएंगे.

वहीं नीचले क्षेत्र में रहने वाले गरीब लोगों के लिए मुख्यमंत्री ने 10 हजार रुपये की घोषणा की है. उन्होंने स्थिति को देखते हुए कहा कि हैदराबाद ने 100 वर्षों बाद इतनी भारी बारिश देखी है

हालांकि, इस बीच राज्य सरकार ने कहा है कि प्राथमिक अनुमान के अनुसार बारिश और बाढ़ से 5 हज़ार करोड़ रुपये की क्षति हुई है. इस संबंध में पूछे गए एक सवाल पर राव ने कहा कि एक अंतरिम रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी गई है और सहायता के लिए 1,380 करोड़ रुपये की मांग की गई है. हालांकि अभी केंद्र से इस पर प्रतिक्रिया नहीं आई है और वह सकारात्मक प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा कर रहे हैं.

वहीं कर्नाटक में भी भरी बारिश और बाढ़ की वजह से 15 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. उत्तरी कर्नाटक में भीमा नदी के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण बाढ़ के गंभीर हालात बने हुए हैं और कलबुर्गी, विजयपुरा, यादगीर एवं रायचुर जिलों में बड़ी संख्या में गांव अब भी जलमग्न हैं.

इस बीच, कर्नाटक राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र यानी केएसएनडीएमसी के अधिकारियों ने कहा कि उसके चार जिलों में 97 गांव बुरी तरह प्रभावित हैं और वहां रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. केएसएनडीएमसी के एक अधिकारी ने कहा, अभी तक 36,290 लोगों को निकाला गया है. उन्होंने 174 राहत शिविर खोले हैं जहां 28 हज़ार से ज्यादा लोग रह रहे हैं.

ताज़ा वीडियो