तीन साल में देश के 50,420 करोड़ बाढ़ में डूबे: केंद्र सरकार

by M. Nuruddin 1 year ago Views 1762

50,420 thousand crores flooded in the country with
देश में बाढ़ से हर साल तबाही मचती है और जानमाल का भी भारी नुकसान होता है। देश में कई ऐसे राज्य हैं जहां हर साल बाढ़ आना लगभग तय माना जाता है लेकिन इसके चलते होने वाले नुकसान की भरपाई करने में सालों लग जाते हैं। अब सरकार ने संसद में बताया है कि पिछले तीन सालों में बाढ़ के चलते देश को 50 हज़ार 420 करोड़ रूपये का नुकसान हो चुका है और सबसे ज्यादा नुकसान झेला है बिहार, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, राजस्थान, तमिलनाडु और अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्यों ने।

केंद्रीय जल शक्ति और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने संसद में एक सवाल के जवाब में राज्यवार आंकड़े जारी कर बताया कि बाढ़ से हज़ारों करोड़ रूपये की फसलें, मकान और हज़ारों लोगों की मौत हो गई।


आंकड़ों के मुताबिक साल 2016 में बाढ़ की तबाही से देश को 5,675.32 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ। इनमें सबसे ज़्यादा कर्नाटक राज्य का 2055.4 करोड़ रूपये बह गए और 63 लोग मारे गए। इनके अलावा राजस्थान में बाढ़ से 129 लोगों की मौत हुई और 1199.11 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ। उसी साल उत्तराखंड में बाढ़ की तबाही में 114 लोग मारे गए और राज्य को हुए नुकसान की राशि 788.2 करोड़ रूपये आंकी गई। 2016 में आई बाढ़ से सबसे ज़्यादा 254 मौतें बिहार में हुई और उसे 528.7 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा। जबकि हरियाणा में बाढ़ की तबाही से दो लोग मारे गए थे और कुल 522 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ था।

इसके अगले साल भी नुकसान का सिलसिला जारी रहा। अलग-अलग राज्यों में आई बाढ़ में देश को 26,395.8 करोड़ रूपए का नुकसान। सबसे ज़्यादा 17,727.9 करोड़ रूपये का नुकसान पश्चिम बंगाल राज्य को हुआ जबकि राज्य में बाढ़ की चपेट में आकर 217 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। इनके अलावा गुजरात में बाढ़ की वजह से 284 लोग मारे गए जबकि राज्य का 3,555.8 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ था। 2017 में राजस्थान को 1,876.8 करोड़, अरुणाचल प्रदेश को 1,574.6 करोड़ और नागालैंड को 551.5 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा। इसी दौरान राजस्थान में 101, अरुणाचल प्रदेश में 60 और नागालैंड में 29 लोगों की बाढ़ की चपेट में आकर मौत हो गई।

इनके अलावा 2018 में देश को बाढ़ की तबाही से 18,349.76 करोड़ रूपये का नुकसान उठाना पड़ा। अकेले कर्नाटक में ही बाढ़ की तबाही में 7,940.15 करोड़ रूपये बाढ़ के पानी के साथ बह गए, आंध्र प्रदेश में 3,687.17 करोड़ का नुकसान हुआ और तमिलनाडु, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा जैसे राज्य ख़ासा प्रभावित हुए। आंकड़ों के मुताबिक़ तमिलनाडु में तबाही से 3500 करोड़, अरुणाचल प्रदेश को 1913.8 करोड़ और त्रिपुरा में बाढ़ से नुकसान 946.17 करोड़ रूपए आंकी गई। जबकि इसी दौरान इन पांच राज्यों में 344 लोग बाढ़ की वजह से मारे गए।

मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी से साफ है कि देश में हर साल बाढ़ से करोड़ों के नुकसान के अलावा हज़ारों लोग मारे जाते हैं। जानकार बताते हैं कि ये सरकारी आंकड़े हैं जबकि असली संख्या सरकारी पहुंच से भी दूर है।

 

ताज़ा वीडियो