एएमयू में कैंडल मार्च निकालने पर 400 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज

by Rahul Gautam 5 months ago Views 1631
400 people sued for candle march in AMU
यूपी पुलिस ने नागरिकता क़ानून के विरोध में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में कैंडल मार्च निकालने वाले 400 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ कर लिया है। पुलिस का कहना है इन लोगों के पास कैंडल मार्च की कोई परमिशमन नहीं थी और जिले में धारा 144 लगी होने के कारण लोगों का इकट्ठा होना निषेध है।

यूपी पुलिस नागरिकता कानून का विरोध करने वालों पर सख्ती करने के चलते पहले ही सुर्खियों में है। ताज़ा मामला अलीगढ़ से आया है जहां पुलिस 400 अज्ञात लोगों पर कैंडल मार्च निकालने की वजह से मुक़दमा दर्ज़ कर लिया है। आपको बता दें, 23 दिसंबर को एएमयू कैंपस में नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों में मारे गए लोगो की याद में एक कैंडल मार्च का आयोजन किया गया था। इसी कैंडल मार्च में हिस्सा लेने वालों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है। अब पुलिस इन लोगों की पहचान कर आगे की कार्रवाई करेगी।

Also Read: NRC और NPR की सच्चाई, 'सरकारी वेबसाइट की ज़ुबानी'

आपको बता दें, 15 दिसंबर को नए नागरिकता के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे एएमयू के छात्रों और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी। बाद में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस का आरोप है कि पहले छात्रों की तरफ से पत्थरबाज़ी हुई। इस घटना के बाद कैंपस को स्टूडेंट्स से खाली कराकर 5 जनवरी तक छुट्टियां कर दी गई।

यूपी पुलिस पहले ही प्रदर्शनों से निपटने को लेकर आलोचना झेल रही है। जहां पूरे देश में हो रहे प्रदर्शनों में 25 लोगों की जान गई, इसमें से 19  मौतें केवल उत्तर प्रदेश में हुई। आरोप लग रहे हैं कई लोगों की मौत पुलिस फायरिंग में हुई, हालांकि पुलिस आरोपों को झूठा बता रही है।

पुलिस ने राज्य में नागरिकता कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शनों में अबतक 327 मामले दर्ज़ किये हैं जिसमें 1,113 लोगों को गिरफ्तार किया जा चूका है और 5,558 लोगों को हिरासत में लिया गया था। पुलिस का कहना है 288 पोलिसवाले भी घायल हैं जिनमें 61 को गोली लगी है।

इसके अलावा, 124 लोगों को फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट डालने जिसमें 93 पर्चे दाखिल किये गए हैं। सोशल मीडिया पर 19,409 पोस्टस, 9,372 ट्विटर पर, 9m856 फेसबुक पर और 181 यूट्यूब प्रोफाइल्स ब्लॉक की गई है।