ads

2019 में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के 36 जवानों ने ख़ुदकुशी की: एनसीआरबी

by Shahnawaz Malik 8 months ago Views 970

36 armed forces committed suicide in 2019: NCRB
नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के 36 जवानों ने अलग-अलग वजहों के चलते ख़ुदकुशी कर ली. नए आंकड़ों के बीते छह साल में जवानों की ख़ुदकुशी की संख्या बढ़कर 433 हो गई है.

एनसीआरबी के आंकड़े बताते हैं कि साल 2014 में देशभर में केंद्रीय सुरक्षा बल के जवानों की ख़ुदकुशी के रिकॉर्ड 175 मामले दर्ज हुए थे. वहीं 2015 में 60, 2016 में 74, 2017 में 60 ख़ुदकुशी के मामले आए थे. साल 2018 में यह संख्या घटकर 28 पर पहुंच गई थी लेकिन 2019 में फिर बढ़ोतरी दर्ज हुई है और कुल 36 ख़ुदकुशी के मामले सामने आए हैं.


गृह मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय सशस्त्र सुरक्षा बल में सात बल शामिल हैं. इनमें सीआरपीएफ, असम राइफ़ल्स, एसएसबी, सीईएसएफ, आईटीबीपी, बीएसएफ और एनएसजी शामिल हैं. एनसीआरबी के मुताबिक एक जनवरी 2019 को केंद्रीय सशस्त्र सुरक्षा बल में कुल 9 लाख 23 हज़ार 800 जवान तैनात थे. यह जवान देश की सीमा से लेकर आंतरिक सुरक्षा की ज़िम्मेदारी संभालते हैं.

जवानों में ख़ुदकुशी के मामलों की वजह कई बार निजी होती है लेकिन जवान पेशेवर वजहों से भी ख़दकुशी के लिए मजबूर होते हैं. कई बार जवान आरोप लगा चुके हैं कि देश के सरहदी इलाक़ों से लेकर आंतरिक सुरक्षा तक की ज़िम्मेदारी उनके कंधों पर होती है लेकिन सरकार ने उन्हें जिस तरह की सुविधा मिलनी चाहिए, वैसी सुविधा नहीं मिलती. कई बार उन्हें बेहद अमानवीय हालात में काम करना पड़ता है.

ताज़ा वीडियो