अफ़ग़ानिस्तान के 15 प्रांतीय शहरों पर तालिबान का क़ब्ज़ा, सरकार ने दिया सत्ता साझा करने का प्रस्ताव

by M. Nuruddin 10 months ago Views 2026

15th Afghanistan Provincial Capital Down To Taliba
अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान का दबदबा बढ़ता जा रहा है। चरमपंथी संगठन ने अब देश के बड़े शहर लश्कर-गाह पर भी क़ब्ज़े का दावा किया है। क्षेत्र के हिसाब से यह अफ़ग़ानिस्तान का सबसे बड़ा शहर है।

सेना और सरकार ने इलाके को खाली करा लिया है और वे तालिबानियों के साथ बातचीत का रास्ता खोजने में लगे हैं। इनके अलावा तालिबान लड़ाकों ने बिना किसी लड़ाई के अफगानिस्तान के पश्चिमी प्रांत घोर के फिरुज कुह शहर पर कब्जा कर लिया।


मीडिया आउटलेट अल-जज़ीरा ने स्थानीय पार्षद फ़ज़ल-उल हक एहसान और प्रांत का प्रतिनिधित्व करने वाली सांसद फातिमा कोहिस्तानी के हवाले से बताया है कि- शहर को स्थानीय अधिकारियों और सुरक्षा बलों ने खाली कर दिया है और तालिबान लड़ाके शहर के सभी सरकारी भवनों को अपने नियंत्रमण में ले रहे हैं।

फिरुज़ कुह की आबादी 132,000 से कुछ ज़्यादा है और यह एक सप्ताह के भीतर 15वां ऐसा प्रांत है जिसपर तालिबानी ने क़ब्ज़ा किया है। इनके अलावा तालिबान ने पश्चिमी बदघिस प्रांत की राजधानी क़ाला-ए-नॉ पर भी कब्जा कर लिया है। तालिबान लड़ाकों ने पहले ही अफ़ग़ानिस्तान के दूसरे और तीसरे सबसे बड़े शहर कांधार और हेरात को अपने नियंत्रण में ले लिया था।

ग़ौरतलब है कि अमेरिका के अपनी सेना की वापसी की बात दोहराने पर तालिबान लड़ाकों ने हमले और तेज़ कर दिए हैं। पिछले दिनों ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने दोहराया था कि ‘अफग़ान नेताओं को अपने राष्ट्र के लिए लड़ना चाहिए।’ अमेरिका राष्ट्रपति ने साथ ही कहा कि अफ़ग़ानिस्तान से सेना वापस बुलाने का उनको कोई अफ़सोस नहीं है।

तालिबान लड़ाकों ने कांधार और काबुल के बीच बसे ग़ज़नी प्रांत को भी अपने नियंत्रण में ले लिया है। इस शहर की आबादी करीब दो लाख की है। यह शहर हाइवे 1 पर स्थित है जो कांधार और काबुल को हज़ारों सालों से जोड़ती है। ग़ज़नी पर नियंत्रण से तालिबानियों के लिए काबुल का रास्ता आसाना माना जा रहा है। काबुल ग़ज़नी से 150 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में काबुल पर तालिबान नियंत्रण की संभावनाएं बढ़ गई हैं।

तालिबान ने अब तक देश के एक तिहाई शहरों और उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान के ज़्यादातर इलाक़ों पर कब्ज़ा किया है। चरमपंथी अफ़ग़ान सुरक्षा बलों को हराते हुए अपनी बढ़त बना रहे हैं। इस बीच हज़ारों लोग बेघर हो गए हैं। वो जान बचाने के लिए राजधानी काबुल की तरफ़ भाग रहे हैं।

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ अफ़ग़ानिस्तान सरकार ने देश में बढ़ते हिंसा को रोकने के लिए तालिबान को सत्ता साझा करने का प्रस्ताव भी दिया है। अफ़ग़ान सरकार ने यह प्रस्ताव क़तर के ज़रिए पेश किया है, जो तालिबान का पॉलिटिकल ऑफिस है और अफ़ग़ान-तालिबान शांति समझौते की अगुवाई भी कर रहा है।

हालांकि काबुल स्थित प्रेज़िडेंशियल पैलेस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है और बताया गया है कि वो अपने प्लान में कोई बदलाव नहीं कर रहे हैं, बल्कि शांति समझौते पर बातचीत चल रही है।

ताज़ा वीडियो