India's Trade Deficit: भारत का बढ़ता व्यापार घाटा !

by GoNews Desk 2 years ago Views 1955

India's Trade Deficit: India's increasing trade de
भारत का व्यापार घाटा, ये पांचवां महीना है जब 20 अरब डॉलर से ज़्यादा रहा है। फरवरी महीने में भारत ने जितने का निर्यात किया है उससे लगभग दोगुना आयात किया है। इससे यह समझा जा सकता है कि सरकार भारत के “आत्मनिर्भरता” को लेकर कितनी गंभीर है।

मसलन भारत का निर्यात फरवरी महीने में 22 फीसदी बढ़ा है जबकि आयात 40 फीसदी बढ़ा। इसके साथ ही अप्रैल 2021-फरवरी 2022 तक भारत का व्यापार घाटा 61 फीसदी बड़ गया है।


आयात इलेक्ट्रॉनिक सामान (28.9%) और पेट्रोलियम और कच्चे उत्पादों (66.6%) की ज़्यादा खरीद की वजह से बढ़ा है। पेट्रोलियम उत्पादों (+66.3%), इंजीनियरिंग सामान (+31.3%) और रसायनों (+24.7%) की ज़्यादा बिक्री के बीच निर्यात 22.4 फीसदी बढ़कर 33.8 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया।

2021-22 की अप्रैल-फरवरी की अवधि को ध्यान में रखते हुए, व्यापार घाटा एक साल पहले के 89 बिलियन अमरीकी डॉलर की तुलना में बढ़कर 176 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया।

11 महीने की अवधि के दौरान आयात 59.21 फीसदी बढ़कर 550.12 अरब डॉलर हो गया। इस अवधि के दौरान व्यापार घाटा अप्रैल-फरवरी 2020-2021 के दौरान 88.99 अरब डॉलर के मुकाबले बढ़कर 176.07 अरब डॉलर हो गया।

आंकड़ों के मुताबिक फरवरी में सोने का आयात 11.45% घटकर 4.68 अरब डॉलर रहा। इलेक्ट्रॉनिक सामानों का आयात करीब 29 फीसदी बढ़कर 6.24 अरब डॉलर हो गया।

आंकड़ों पर टिप्पणी करते हुए, फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशन (एफआईई) ने कहा कि हालांकि सरकार ने समर्थन के लिए कई उपायों का ऐलान किया है।

निर्यात, समय की ज़रूरत है कि जल्द ही ब्याज़ समकारी योजना के विस्तार का ऐलान किया जाए और एमईआईएस (भारत से व्यापारिक वस्तु निर्यात योजना) के हस्तांतरण की अनुमति दी जाए और शेयरों की वैधता को 24 महीने तक बढ़ाई जाए।

ताज़ा वीडियो