भारत की प्रति व्यक्ति आय अपने चार साल के निचले स्तर पर

by GoNews Desk 2 years ago Views 6404

India's per capita income at its four-year low
2021 आर्थिक मोर्चे पर भारत के लिए एक ख़राब साल रहा। इस वजह से कॉन्सटेंट प्राइस (स्थिर कीमतों) पर भारत की प्रति व्यक्ति आय चार साल में पहली बार एक लाख के नीचे गिर गई है। 2021 के ख़त्म होने के साथ भारत की प्रति व्यक्ति आय 99,694 पर आ गई है। इससे पता चलता है कि भारत की अर्थव्यवस्था के महामारी से उबरना अभी बाकि है।

2017-18 में महामारी से पहले कॉन्सटेंट प्राइस पर भारत की प्रति व्यक्ति आय में इज़ाफा हो रहा था लेकिन बाद में इसमें गिरावट आई जो महामारी के दौरान और ज़्यादा गहरा गई। 2011-12 में भारत की प्रति व्यक्ति आय 71,610 रूपये था जो 2017-18 में 108,645 रूपये पर पहुंच गया था लेकिन महामारी में यह एक लाख रूपये से नीचे गिर गया।


कॉन्सटेंट प्राइस पर भारत की प्रति व्यक्ति आय 2020-21 में 86,659 रूपये पर थी जो 2019-20 में 94,566 रूपये के मुक़ाबले बेहद कम है। इसी तरह करेंट प्राइस पर भारत की प्रति व्यक्ति 2019-20 में 151,760 रूपये के मुक़ाबले 2020-21 में अनुमानित 145,679 रूपये पर आ गई है।

वर्ल्ड बैंक के मुताबिक़, 1993 में भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी वैश्विक प्रति व्यक्ति जीडीपी का 6.45 फीसदी था जो वैश्विक प्रति व्यक्ति जीडीपी 4,670 डॉलर के मुक़ाबले 301 डॉलर रहा था। हालांकि यह बढ़कर 2011 में 12.53 फीसदी, 2014 में 14.63 फीसदी और 2019 में 18.4 फीसदी पर पहुंच गया।

हालांकि करेंट प्राइस पर साल 2020 में वैश्विक प्रति व्यक्ति जीडीपी 10,910 डॉलर थी और भारत की 1927.7 डॉलर थी जो वैश्विक प्रति व्यक्ति जीडीपी का 17.66 फीसदी है।

जबकि अगर 2021 की बात करें तो इसमें थोड़ा सुधार ज़रूर देखा गया है। 2021 में भारत और दुनिया की प्रति व्यक्ति जीडीपी क्रमश: 2,210 डॉलर और 12,290 डॉलर थी जिसका मतलब है कि इस दौरान भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी वैश्विक प्रति व्यक्ति जीडीपी का 17.98 फीसदी रही।

क्या मौजूदा आर्थिक स्थिति में सुधार होगा ?

पिछले साल 2020 में महामारी के दौरान पहली तिमाही में भारत की जीडीपी में -24.4 फीसदी की निगेटिव ग्रोथ दर्ज की गई थी। जबकि यह 2021-22 की पहली तिमाही में 20.1 फीसदी दर्ज की गई। इसका मतलब है कि भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार हो रहा है लेकिन इससे प्रति व्यक्ति आय में सुधार की उम्मीद बेमानी साबित हो सकती है।

ताज़ा वीडियो