देश के पूर्वी हिस्से के बाद अब गुजरात में बाढ़ का कहर, एक दिन में नौ मौतें

by Ankush Choubey 3 years ago Views 4756

After the eastern part of the country, now floods
गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में कई दिनों से जारी मूसलाधार बारिश ने भयावह रूप ले लिया जिसकी वजह से महज़ एक दिन में 9 लोगों की मौत हो गई. इनमें दो मौतें जूनागढ़ में होने के अलावा मेहसाणा, भावनगर, तापी और मोरबी में लोग मारे गए. राज्य सरकार के मुताबिक एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें बचाव अभियान में जुटी हुई हैं. अब तक तक़रीबन दो हज़ार लोगों को  अहमदाबाद, मेहसाणा, साबरकांठा और पाटन जिलों से निकाला गया है.

राज्य सरकार के मुताबिक भारी बारिश की वजह से 44 नदियां और 41 झीलें उफान पर हैं. सरदार सरोवर बांध 60.83 प्रतिशत तक भर गया है जबकि 68 बांध पूरी तरह पानी से लबालब हैं. इनके अलावा 14 बांधों के लिए अलर्ट जारी किया गया है.


भारतीय मौसम विभाग ने मंगलवार के लिए भी रेड अलर्ट जारी किया है. आशंका जताई जा रही है कि अगले कुछ दिनों में राज्य में हालात तेज़ी से बिगड़ सकते हैं.

बारिश का सबसे ज़्यादा कहर राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में देखने को मिल रहा है. यहां राजकोट, भावनगर, सुरेंद्र नगर, अमरेली, मोरबी समेत कई ज़िले ऐसे हैं जहां लोगों की सांसें अटकी हुई हैं. सोमवार को राजकोट में स्वामी नारायण मंदिर पानी में डूबा दिखा. वहीं मोरबी में घंटों तक फंसे रहे 30 लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने किसी तरह रेस्क्यू किया.

इसी तरह अमरेली में एक किसान ट्रैक्टर लेकर अपने खेत में जा रहा था लेकिन अचानक आई बाढ़ की चपेट में आ गया और ट्रैक्टर के साथ पानी में बह गया. अभी तक हुई बारिश के आंकड़े बताते हैं कि राज्य के कच्छ ज़िले में अभी तक सबसे अधिक 188.04 प्रतिशत बारिश दर्ज की गई है.

ताज़ा वीडियो