जुलाई में 32 लाख लोगों ने नौकरी गंवाई, शहरों में अधिक बुरे हालात

by Sarfaroshi 2 years ago Views 2413

भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेतों के बीच जुलाई 2021 में 30 लाख से ज़्यादा लोगों ने अपनी नौकरी गंवा दी है। सेंटर ऑफ मॉनिटरिंग इकॉनॉमी के नए आंकड़े बताते हैं कि भारत में सिर्फ जुलाई के महीने में 32 लाख नौकरी गई हैं। आंकड़ों के मुताबिक जून में 7.9 करोड़ लोगों के पास सैलरीड जॉब थी जबकि जूलाई के अंत में ये 7.6 करोड़ रह गई। 

सीएमआईई के आंकड़े बताते हैं कि गांव के मुकाबले शहरों में ज़्यादा लोगों ने अपनी नौकरी गंवाई। शहरों में नौकरियां जून के महीने में 4.8 करोड़ थी जबकि जुलाई में इनकी संख्या कम हो कर 4.6 करोड़ हो गई। करीब 26 लाख लोगों ने एक महीने में अपनी नौकरी खोई। इस बीच छोटे व्यापारियों और मजदूरों की संख्या बढ़ी।

बता दें कि यह संख्या जुलाई में 3.42 करोड़ हो गई जो कि जून के मुकाबले करीब 24 लाख अधिक है। 

जुलाई 2021 के आंकड़ों के मुताबिक हरियाणा में बेरोजगारी दर सबसे अधिक 28.01 फीसदी देखी गई जबकि इसके बाद गोआ, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बेरोजगारी की दर क्रमशः 21.4%, 21.0%, 15.04% और 15.0 फीसदी थी। 

देश में हालांकि लाखों लोगों ने पिछले महीने नौकरियां गंवाई लेकिन इस बीच नौकरी जाने की दर में जून के मुकाबले गिरावट हुई। जून में जॉब लॉस रेट 9.17 फीसदी था जो कि जुलाई में 6.95% हो गया। ग्रामीण और शहरों में इस दर में गिरावट हुई।

जून में ग्रामीण बेरोजगारी दर और शहरी बेरोजगारी दर 8.75% और 10.7 थी जो कि जुलाई में कम हो कर  6.34% और 8.30 फीसदी हो गई। 

उधर सीएमआईई का उपभोक्ता पिरामिड घरेलू सर्वेक्षण डाटा बताता है कि देश में वी-शेप सुधार हो रहा है लेकिन तीसरी लहर की आहट के बीच इस रिकवरी का बने रहना चुनौती जैसा है।

ताज़ा वीडियो