ads

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव: 15 अक्टूबर को ट्रंप और बाइडन के बीच होने वाली दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट रद्द की गई

by Ankush Choubey 7 months ago Views 6093

US presidential election: second presidential deba
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले 15 अक्टूबर को होने वाली दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट रद्द कर दिया गया है. कमीशन ऑन प्रेसिडेंशियल डिबेट्स ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के वर्चुअल डिबेट में हिस्सा लेने से इंकार करने के बाद राष्ट्रपति ट्रम्प और डेमोक्रेटिक उम्मीदवार और उनके प्रतिद्वंदी जो बिडेन के बीच अगले हफ्ते होने वाली डिबेट को रद्द कर दिया गया है.  कमीशन ऑन प्रेसिडेंशियल डिबेट्स ने 15 अक्टूबर को मियामी में प्रस्तावित प्रेसिडेंशियल डिबेट के वर्चुअल आयोजन की घोषणा की थी.

कमीशन ने कहा है कि दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट को टाउन मीटिंग्स की तर्ज पर कराया जाएगा, जिसमें उम्मीदवार रिमोट लोकेशंस से हिस्सा लेंगे.  हालांकि डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान किया था कि वह इस वर्चुअल प्रेसिडेंशियल डिबेट का हिस्सा नहीं बनेंगे.


वहीँ अब राष्ट्रपति चुनाव से बिकुल पहले तीसरी और आखिरी डिबेट का आयोजन 22 अक्टूबर को होगा.  इस बीच जो बिडेन के प्रवक्ता एंड्रयू बेट्स ने कहा, कि यह बेहद शर्मनाक बात है कि डोनाल्ड ट्रम्प ने एकमात्र ऐसी बहस को नाकाम कर दिया जिसमें मतदाता सवाल पूछते हैं. हालाँकि, यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है,  क्योंकि  सबको पता है कि डोनाल्ड ट्रम्प के पास मतदाताओं को जवाब देने की हिम्मत ही नहीं है.

राष्ट्रपति ट्रंप और जो बिडेन के बीच इस दौरान सोशल मीडिया पर काफी बयानबाज़ी भी हो रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि ताजा सर्वे में उनकी लोकप्रियता बढ़ी है, जिससे जो बिडेन को खतरा है. डोनाल्ड ट्रंप ने एक इंटरव्यू में कहा कि अगर जो बिडेन चुनाव जीत जाएंगे तो एक महीने के अंदर ही कमला हैरिस सबकुछ अपने हाथ में ले लेंगी. इतना ही नहीं डोनाल्ड ट्रंप ने तो कमला हैरिस को कम्युनिस्ट भी करार दिया.

कुछ दिन पहले ही अमेरिकी चुनाव के लिए वाइस प्रेसिडेंट के उम्मीदवारों के बीच डिबेट हुई, जिसमें कमला हैरिस और माइक पेंस आमने-सामने थे. इस डिबेट को लेकर काफी विवाद है, एक ओर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि कमला हैरिस डिबेट में नर्वस थीं और पूरी तरह से हार गईं. हालाँकि, डेबिट के बाद कई राजनैतिकज्ञों ने कमला हर्रिस को नहीं बल्कि माइक पेंस को डरा हुआ करार दिया था.

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में बाईट कई सालों से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच डिबेट होती आरही हैं. 1990 के दशक के दौरान एक कमीशन का गठन किया था, जिसका नाम कमिशन फॉर प्रेसिडेंशियल डिबेट्स रखा और जिसके अंतर्गत अब सभी डिबेट्स होती हैं. वहीं  साल 1999-2000 के बाद से ही यहाँ पर तीन डिबेट की परंपरा रही है. अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के लिए 3 नवम्बर को वोटिंग होगी और ट्रंप अपने प्रतिद्वंदी जो बाइडेन से पिछड़ रहे हैं.

ताज़ा वीडियो