Social Media: अमेरिकी ऐप चीन में बैन, चीनी ऐप का दुनिया में क़ायम होता दबदबा !

by Sarfaroshi 2 years ago Views 44607

Chinese App

हर बीतते साल के साथ सोशल मीडिया ऐप्लीकेशन के उपयोगकर्ताओं में लाखों की बढ़ोतरी हो रही है। ऑनलाइन पब्लिशर विजुअल कैपिटलिस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक इंटरनेट यूजर औसतन 2.5 घंटे सोशल मीडिया पर बिताता है हालांकि भारत समेत कई देश अब अपने यहां विदेशी ऐप पर नकेल कस रहे हैं। इनमें पड़ोसी देश चीन और अमेरिका का भी नाम आता है।

विजुअल कैपिटलिस्ट ने उन सोशल मीडिया ऐप्स की लिस्ट जारी की जोकि उपयोगकर्ताओं के बीच सबसे ज़्यादा पॉपुलर हैं। यह लिस्ट स्टेटिस्टा, बिजनेस ऑफ एप्स आदी जैसी डेटाबेस कंपनियों के हवाले से जारी की गई। यह आंकड़े बतातें है कि इस समय डिजिटल स्पेस पर चीन और अमेरिका का दबदबा बना हुआ है। दोनों देशों की घरेलु कंपनियों के कई ऐसे ऐप हैं जिनके कई देशों की आबादी से भी ज़्यादा यूजर्स हैं। 

अमेरिकी सोशल मीडिया ऐप फेसबुक दुनियाभर में लोगों के बीच सबसे ज़्यादा पसंदीदा है। इसके 2.9 अरब यूजर्स हैं। इसकी मालिक कंपनी मेटा के दूसरे ऐप इंस्टाग्राम, मेसेंजर के 1.3 अरब और व्हाट्सऐप के 2.3 अरब यूजर्स हैं। अगर इन्हें एक साथ लाया जाए तो मेटा के इन चार सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस पर ही हर महीने 7.5 अरब एक्टिव यूजर्स हैं। 

अमेरिकी वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप यूट्यूब के भी 2.3 अरब यूजर्स हैं जो कि इसे वीडियो प्लेटफॉर्म के बीच सबसे पॉपुलर बनाता है। स्टेटिस्टा के मुताबिक हर घंटे यूट्यूब पर 30,000 नए कंटेंट अपलोड होते हैं। इसके अलावा कई और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे स्नैपचैट, ट्विटर और पिंटरेस्ट के उपयोगकर्ताओं की संख्या भी दसियो लाख में हैं।

 पहली सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट 6 डिग्रीज के आने के बाद से लंबे समय तक डिजिटल स्पेस पर अमेरिका काबिज़ रहा लेकिन अब चीन उसे कड़ी टक्कर दे रहा है। चीन की कंपनी बाइटडांस का लाया गया टिक-टॉक तेज़ी से लोगों के बीच मशहूर हुआ। भारत जैसे कई देशों में बैन होंने के बाद भी इसके 1 अरब यूजर्स हैं जबकि चीन का मुख्य मेसेजिंग ऐप वी चैट भी 1.2 अरब लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा है और वीडियो प्लेटफॉर्म kuaishou के भी 1 अरब यूजर्स हैं।

 टेलीग्राम भी उन मेसेजिंग ऐप में से हैं जिसकी मांग बहुत तेज़ी से बढ़ी है। अभी इसके 60 करोड़ यूजर्स हैं। अब सवाल उठता है कि बीतते समय के साथ बड़ी संख्या में ऐप डिजिटल स्पेस में अपनी जगह बना रहे हैं। लाखों में इनके यूजर्स बढ़ रहे हैं। ऐसे में दिग्गज मेटा कब तक 'सोशल किंग' बना रहेगा। 

चीन के कई ऐप दुनियाभर में इस्तेमाल किए जा रहे हैं लेकिन खुद चीन विदेशी सोशल मीडिया पर क्रैकडाउन कर रहा है। अमेरिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ऐप लिंकडिन की सेवा चीन में बंद करने का ऐलान किया है। उसका कहना है कि चीन में ऐप चलाने में दिक्कतें आ रही हैं। लिंकडिन के 30 करोड़ से ज़्यादा उपयोगकर्ता हैं। 

चीन ने 1990 के अंत से ही इंटरनेट पर मौजूद कटेंट को सेंसर करना शुरू कर दिया था जबकि 2009 के बाद से इसमें तेज़ी आई और अब अगर आप चीन में बैन ऐप की लिस्ट देखेंगे तो पाएंगे कि इनमें से ज़्यादातर अमेरिकी हैं। उदाहरण के लिए अमेरिकी मैसेजिंग ऐप फेसबुक मेसेंजर और व्हाट्सऐप, सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक, इंस्टाग्राम, वीडियो प्लेटफॉर्म यूट्यूब और सर्च इंजन गूगल, वह ऐप और वेबसाइट हैं जिन्हें आप चीन में यूज नहीं कर सकते हैं।

ताज़ा वीडियो