ads

दुनिया के 15 देशों में 200 से ज़्यादा 'भारतीय मूल' के लोग नेतृत्वकारी पदों पर

by Siddharth Chaturvedi 1 month ago Views 13310

More than two hundred people of Indian origin hold
अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा समेत दुनियाभर के 15 देशों में भारतीय मूल के 200 से ज़्यादा लोग नेतृत्वकारी पदों पर हैं। इनमें से करीब 60 लोगों ने मंत्रिमंडल में भी जगह बनायी है। यह जानकारी ‘2021 इंडियास्पोरा गर्वनमेंट लीडर्स’ की अपनी तरह की पहली लिस्ट में दी गई है।

यह लिस्ट सरकारी वेबसाइटों और सार्वजनिक रूप से उपलब्ध बाकी संसाधनों के आधार पर तैयार की गई है। लिस्ट में बताया गया है कि भारतीय मूल के 200 से ज़्यादा लोग दुनियाभर के 15 देशों में पब्लिक सर्विस के बड़े पदों पर पहुँच चुके हैं।


इस लिस्ट में अमेरिका, कनाडा, त्रिनिदाद एंड टोबैगो, गयाना, सुरीनाम, आयरलैंड, ब्रिटेन, पुर्तगाल, साउथ अफ्रीका, मॉरीशस, मलेशिया, सिंगापुर, फिजी, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के भारतीय मूल के लीडर्स का नाम है।

‘इंडियास्पोरा’ के संस्थापक, उद्योगपति और निवेशक एम.आर रंगास्वामी ने कहा है, ‘‘यह काफ़ी गौरवान्वित करने वाली बात है कि दुनिया के सबसे पुराने लोकतांत्रिक देश की पहली महिला और पहली अश्वेत उपराष्ट्रपति भारतीय मूल की हैं।’’

यहाँ ध्यान देने वाली बात यह भी है कि चार देश ऐसे भी हैं जहाँ सरकार के प्रमुख भारतीय मूल से हैं यानी जिनके पुरखे कभी भारत से आये थे:

वहीं भारतीय मूल की अमेरिकी टॉप लीडरशिप लिस्ट में कमला हैरिस का नाम भी हैं जिनकी माँ तमिलनाडु की थीं। कमला हैरिस के अलावा इस लिस्ट में नीरा टंडन का नाम है, जो व्‍हाइट हाउस कार्यालय में प्रबंधन एवं बजट निदेशक हैं। लिस्ट में एमी बेरा (कैलिफोर्निया), प्रमिला जयपाल (वाशिंगटन), आर.ओ खन्ना (कैलिफोर्निया), राजा कृष्णमूर्ति (इलिनोय) जैसे सांसदों का भी नाम है।

US हाउस फॉरेन अफेयर्स सब कमिटी के चेयरमैन सांसद एमी बेरा कहते हैं, ‘2021 इंडायस्पोरा गवर्नमेंट लीडर्स लिस्ट में शामिल होना मेरे लिए गर्व की बात है। मैं अमेरिका में सबसे लंबे समय तक सांसद रहने वाला भारतीय अमेरिकी हूँ। मुझे उस भारतीय अमेरिकी समुदाय का नेता होने पर गर्व है जो अमेरिकी जीवन और समाज का अभिन्न अंग हो गया है।’

फिजी की शिक्षा, धरोहर और कला मंत्री रोजी अकबर कहती हैं, ‘भारतीय मूल के ये लीडर जिन देशों का प्रतिनिधित्व करते हैं उनकी तरक्की में उन्होंने अहम योगदान दिया है, यह बात काफी प्रेरणादायक है। समाज के बड़े तबके के लिए सामाजिक न्याय को बढ़ावा देने और आर्थिक तरक्की की राह बनाने वाली सरकारी नीति का अहम योगदान होता है।‘

इस लिस्ट में कनाडा से 27 नाम शामिल हैं जिनमें हरजीत सज्जन भी हैं जो कनाडा के रक्षा मंत्री हैं। साथ ही अमेरिका से इस लिस्ट में 90 नाम शामिल हैं जो इस लिस्ट में किसी एक देश की तरफ़ से सबसे ज़्यादा संख्या है। वहीं इस लिस्ट में यूनाइटेड किंगडम से 34 नाम शामिल हैं।

विदेश मामलों के मंत्रालय के मुताबिक दुनिया के तमाम देशों  में 3.2 करोड़ से ज़्यादा भारतीय मूल के लोग रहते हैं और इस हिसाब से विदेश में भारतीयों का समुदाय सबसे बड़ा है।

इंडायस्पोरा की तरफ से जारी बयान के मुताबिक लिस्ट में शामिल गवर्नमेंट लीडर्स 58.7 करोड़ लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

ताज़ा वीडियो