ads

कोरोना ने 70% ज़्यादा ताक़त के साथ किया ब्रिटेन पर नया हमला, पूरी दुनिया चिंतित

by Ankush Choubey 4 months ago Views 9136

पी.एम बोरिस जॉनसन ने देश में श्रेणी-4 के सख्त प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से लागू करते हुए कहा कि कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन पिछले वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत अधिक तेजी से लंदन और दक्षिण इंग्लैंड में तेजी से संक्रमण फैला सकता है।

Corona attacks Britain with 70% more power, the wh
दुनियाभर में अगल-अलग देशों में कोरोना की वैक्सीन के ट्रायल भी शुरू हो चुके है। लोगों को उम्मीद थी कि अब उन्हें कोरोना के संक्रमण से निजात मिल जाएगी। दुनिया भर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा सात करोड़ 70 लाख के पार पहुंच गया है। इस बीच ब्रिटेन, इटली, नीदरलैंड, डेनमार्क, ऑ‍स्‍ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस के एक नए प्रकार जिसे स्ट्रेन कहा जाता है, सामने आया है । उसके संक्रमण की दर अचानक से बढ़ गई है और इससे सबसे ज़्यादा प्रभावित ब्रिटेन हुआ है। ब्रिटेन की राजधानी लंदन समेत पूर्वी इंग्‍लैंड में कोरोना वायरस का स्‍ट्रेन बेकाबू हो गया है।

वायरस के इस नए प्रकार को ब्रिटिश विज्ञानियों ने 'वीयूआइ 202012/01' नाम दिया है। पी.एम बोरिस जॉनसन ने देश में श्रेणी-4 के सख्त प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से लागू करते हुए कहा कि कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन पिछले वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत अधिक तेजी से लंदन और दक्षिण इंग्लैंड में तेजी से संक्रमण फैला सकता है। पी.एम ने पांच दिवसीय प्रस्तावित 'क्रिसमस बबल कार्यक्रम भी रद्द करने का ऐलान किया।


वहीं ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा कि लंदन में कई महीनों तक लॉकडाउन जारी रह सकता है। उन्होंने कहा कि यह वायरस कितना घातक है और इसपर टीका कितना प्रभावी होगा... इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। ब्रिटेन में कोरोना का नया स्‍ट्रेन सामने आने के बाद बीते 24 घंटे में 326 लोगों की मौत हुई है। जबकि शनिवार को रिकॉर्ड 534 लोगों की मौत हुई थी।

लंदन की इस बेहद खराब हालत को देखते हुए यूरोप समेत दुनिया के कई देशों ने ब्रिटेन से उड़ानों पर प्रतिबंध लगा द‍िया है। इस बीच इस नए  स्ट्रेन से संक्रमित मरीज़ इटली में भी पाए गए हैं।  इसको लेकर  इटली के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, ब्रिटेन से आए एक मरीज में कोरोना के नए स्ट्रेन मिले हैं।  वह मरीजे पिछले दिनों ही ब्रिटेन से रोम के फिमिसिनो हवाई अड्डे पर पहुंचा, जिसके बाद उसे आइसोलेट कर लिया गया है।

इस बीच, डब्ल्यूएचओ ने ब्रिटेन से नए स्ट्रेन पर विस्तृत जानकारी मांगी है और लोगों से सतर्क रहने को कहा है। डब्ल्यूएचओ ने यह भी कहा है कि कोरोना के नए स्ट्रेन से संबंधित जानकारी को सदस्य देशों के साथ साझा किया जाएगा। ब्रिटेन में नया स्ट्रेन मिलने और अचानक उसके मामलों में बढ़ोतरी होने से भारत में भी चिंता बढ़ गई है।

इस चुनौती से निपटने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में ज्वाइंट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक भी बुलाई है। बैठक की अध्यक्षता स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक करेंगे और भारत में विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ रॉडरिको एच ऑफ्रिन भी बैठक में शामिल हो सकते हैं जोकि जेएमजी के सदस्य भी हैं।

ताज़ा वीडियो