ads

पीएम मोदी को गोलकीपर्स अवॉर्ड देने पर बिल गेट्स फाउंडेशन की स्टाफ ने इस्तीफ़ा दिया

by Ankush Choubey 1 year ago Views 10951

Bill Gates Foundation Staff Resigns After Giving G
तमाम विरोध के बावजूद बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने ग्लोबल गोलकीपर्स अवार्ड से पीएम नरेंद्र मोदी को न्यू यार्क में सम्मानित कर दिया. हालांकि इस विरोध की तपिश बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन तक पहुंची जिसकी एक अधिकारी सबा हामिद ने पीएम मोदी को सम्मानित करने पर नौकरी से इस्तीफ़ा दे दिया. 

सबा हामिद मूलत: कश्मीर की रहने वाली हैं और साढ़े तीन साल से मेलिंडा एंड गेट्स फाउंडेशन में बतौर कम्युनिकेशन्स स्पेशलिस्ट एंड प्रोग्राम ऑफिसर काम कर रही थीं. अपने इस्तीफ़े के बाद उन्होंने कहा कि कश्मीर की 80 लाख की आबादी पिछले 50 दिनों से अघोषित कर्फ्यू झेल रही है. आमलोगों को मेडिकल जैसी बुनियादी सुविधा भी कम से कम मिल पा रही है और घाटी में मानवीय संकट पैदा हो गया है. 


उन्होंने इस संकट के लिए सीधेतौर पर पीएम मोदी के नेतृत्व को ज़िम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि घाटी के मौजूदा संकट को मीडिया की मदद से हाईजैक करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने ह्यूस्टन में हाउडी मोदी और लोबल गोलकीपर्स अवॉर्ड का हवाला देते हुए कहा कि इसके सहारे पीएम मोदी की एक छवि तैयार की जा रही है. 

सबा हामिद ने ये भी कहा कि उनका विरोध सिर्फ कश्मीर को लेकर नहीं है. 5 अगस्त 2019 के पहले भी कश्मीर घाटी में हालात सामान्य नहीं थे. मगर कश्मीर के अलावा मोदी सरकार भारत में दलितों, इसाइयों और मुसलमानों की मॉब लिंचिंग के लिए भी ज़िम्मेदार है. उन्होंने 2002 के गुजरात दंगों का भी हवाला दिया. 

मिलिंडा एंड गेट्स फाउंडेशन ने जब पीएम मोदी को ग्लोबल गोलकीपर्स अवॉर्ड देने का ऐलान किया था, तभी से उसका विरोध हो रहा था. तीन नोबेल शांति पुरस्कार विजेता - शिरीन एबादी, तवक्कुल करमान और मैरेड मैगुइरे ने फाउंडेशन के इस फ़ैसले का विरोध किया है. पीएम मोदी को ये अवॉर्ड स्वच्छता के क्षेत्र में बेहतर काम करने के लिए दिया गया है।

ताज़ा वीडियो