ऑस्ट्रेलियाई आग: 50 लाख हेक्टेयर ज़मीन जलकर ख़ाक, 50 करोड़ जीव-जंतुओं की मौत

by Rahul Gautam 4 months ago Views 13622
Australian fire hits New Zealand, PM Morrison canc
ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी भीषण आग से देश में जीवन बुरी तरह तबाह है. बेकाबू आग दुनिया के कई मुल्कों से भी बड़े इलाके में फैली हुई है और पिछले कई हफ्तों से ऑस्ट्रेलिया को जला रही है। इस आग की वजह से ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन ने भारत दौरा रद्द कर दिया है. यह आग अभी तक 50 लाख हेक्टेयर ज़मीन के हिस्से को जलाकर ख़ाक़ कर चुकी है. इससे जुड़े 10 महत्वपूर्ण तथ्य क्या हैं, हम आपको बताते हैं.

1. ऑस्ट्रेलिया में लगी आग अबतक 50 लाख हेक्टेयर ज़मीन जलाकर ख़ाक कर चुकी है। दुनिया के कई मुल्क सिंगापुर, डेनमार्क, नीदरलैंड और बेल्जियम आग से तबाह इलाके से बहुत छोटे हैं।

Also Read: तिरंगा पकड़े युवक की हत्या के आरोप में हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता गिरफ्तार

2. लगभग 100 जगहों पर अब भी आग तेज़ी से धधक रही है जिसके चलते दस हज़ार से भी ज़्यादा लोगों को अपना घर छोड़कर महफ़ूज़ इलाक़ों में जाना पड़ा है।

3. यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिडनी के शोधकर्ताओं के मुताबिक सितम्बर से अब तक लगभग 50 करोड़ जीव जंतुओं की मौत हो चुकी है. इनमें परींदे और सांप की तरह रेंगकर चलने सरीसृप शामिल हैं।

4. ऑस्ट्रेलिया में तकरीबन 1300 घर और 2000 इमारतें इस आग की भेंट चढ़ चुकी हैं और 17 लोगों की मौत हो चुकी है.

5. आग इतनी भीषण है कि उससे उठाने वाला काला धुआं 2000 किलोमीटर दूर न्यूज़ीलैंड तक पहुंच गया है और आसमान में छाया हुआ है.

वीडियो देखिये

6. साल 2009 में लगी ऐसी ही भीषण आग के बाद बने आयोग ने तब 4.4 अरब डॉलर का नुकसान बताया था। विशेषज्ञों के मुताबिक इस साल लगी आग 2009 के मुक़ाबले 6 गुना बड़ी है।

7. ऑस्ट्रलिया की राजधानी कैनबेरा में एयर क्वालिटी इंडेक्स 7,700 के पार हो चुका है जबकि साफ़ हवा के लिए एक्यूआई का स्तर 200 के आसपास होना चाहिए.

8. ऑस्ट्रेलिया में पिछले तीन के मुक़ाबले साल 2019 सबसे गर्म और पानी की किल्लत वाला साल रहा है. आग भड़कने की एक वजह यह भी है कि मिट्टी या जंगलों में नमी नहीं है.

9. अगर इस आग को एक सीधी रेखा में कर दिया जाए तो यह ऑस्ट्रेलिया से अफ़ग़ानिस्तान पहुंच जाएगी. दोनों देशों के बीच की दूरी तक़रीबन 10 हज़ार किलोमीटर है.   

10. ऑस्ट्रेलिया के मौसम विभाग ने कहा है कि आग इतनी भीषण है कि इसके धुएं की वजह एक ख़ास किस्म के बादल बन रहे हैं जिसकी वजह से तूफ़ान आ रहे हैं और आग भड़क रही है.