विदेशी छात्रों को वापस उनके देश भेजने वाला फैसला अमेरिका ने पलटा

by Ankush Choubey 3 weeks ago Views 4092
America reversed the decision to send foreign stud
अमरीका ने उन विदेशी छात्रों को वापस उनके देश भेजने का अपना फ़ैसला पलट दिया है जो कोरोना महामारी के चलते अमेरिकी शिक्षण संस्थानों में ऑनलाइन क्लासेज़ ले रहे थे. बीते हफ्ते अमरीकी सरकार के इस फैसले के ख़िलाफ़ हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नॉलजी ने अदालत का रुख कर लिया था. कई संस्थानों ने इस फैसले को एकतरफ़ा क़रार देते हुए इसे सत्ता का दुरुपयोग बताया था.

हालांकि इस मुक़दमे की सुनवाई के दौरान मैसाचुसेट्स के डिस्ट्रिक्ट जज एलिसन बरो ने बताया कि सभी पक्षों में समझौता हो गया है. समझौते के तहत मार्च में लागू की गई गाइडलाइन को फिर से लागू कर दिया गया है. इसके तहत अंतरराष्ट्रीय छात्र ऑनलाइन क्लासेज़ लेते हुए भी अमरीका में रह सकते हैं. उन्हें उनके देश वापस नहीं भेजा जाएगा.

Also Read: बौद्ध भिक्षुओं का अयोध्या में विरोध प्रदर्शन, राम मंदिर निर्माण रोके जाने की मांग

अगर यह फैसला पलटा नहीं जाता तो भारत और चीन के छात्र सबसे ज़्यादा प्रभावित होते. ओपन डोर्स की 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक अकादमिक सत्र 2017-18 में अमेरिका में सबसे ज़्यादा चीन के 3 लाख 69 हज़ार 548 छात्रों ने दाख़िला लिया था. वहीं दूसरे नंबर पर भारतीय थे जिनकी संख्या 2 लाख 2 हज़ार 14 थी.