महामारी के दौरान वित्त वर्ष 2020-21 में 16 फीसदी बढ़ा ट्रैक्टर का रजिस्ट्रेशन: FADA

by M. Nuruddin 4 months ago Views 1713

'भारत का 95 फीसदी हिस्सा या तो पूरी तौर पर या आंशिक लॉकडाउन में है, ग्राहकों का सेंटिमेंट कमज़ोर हुआ है...'

Tractor registration up by 16% in FY 2020-21 durin
कोरोना संक्रमण और उसकी वजह से लॉकडाउन ने अर्थव्यवस्था के करीब-करीब हर सेक्टर के लिए चिंता पैदा की है लेकिन इस दौरान एकमात्र कृषि क्षेत्र इससे बेअसर रहा। पिछले साल 2020-21 के दौरान ट्रैक्टर की बिक्री में 16 फीसदी की बढ़ोत्तरी देखी गई जो इसका संकेत है। इनके अलावा अन्य तमाम सेक्टर ऐसे रहे जिसमें गिरावट दर्ज की गई।

यह जानकारी सोमवार को जारी फेडेरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) की रिपोर्ट में दी गई है। FADA ने बताया कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कोरोना और लॉकडाउन के बीच ट्रैक्टर का पंजीकरण 16.11 फीसदी बढ़कर 644,779 यूनिट पर पहुंच गया। जबकि वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान यह 555,315 यूनिट रहा था।


हालांकि लॉकडाउन की वजह से अन्य वाहनों का रजिस्ट्रेशन 30 फीसदी घटा है। वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान 217,68,502 यूनिट की तुलना में 2020-21 के दौरान यह गिरकर 152,71,519 यूनिट पर आ गया, जो पिछले आठ वर्षों की तुलना में सबसे कम है।

अगर आंकड़े देखें तो वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कुल पैसेंजर वाहनों का रजिस्ट्रेशन 23,86,316 यूनिट रहा। जबकि वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान यह 27,73,514 यूनिट रहा था।

मसलन वित्त वर्ष 2019-20 की तुलना में 2020-21 के दौरान टू व्हीलर्स का रजिस्ट्रेशन 32 फीसदी घटा है। इसी तरह थ्री व्हीलर्स का रजिस्ट्रेशन 64 फीसदी, कॉमर्शियल वाहनों का 49 फीसदी और पैसेंजर वाहनों का रजिस्ट्रेशन 14 फीसदी घटा है।

रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए FADA के अध्यक्ष विनकेश गुलाटी ने कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से न सिर्फ शहरी बाज़ार में बल्कि ग्रामीण बाज़ार में भी तबाही मची है। इस दौरान जब भारत का 95 फीसदी हिस्सा या तो पूरी तौर पर या आंशिक लॉकडाउन में है, ग्राहकों का सेंटिमेंट कमज़ोर हुआ है।

ताज़ा वीडियो

ads