ads

महामारी के दौरान 100 प्रोफिट मेकिंग कंपनियों की वैश्विक लिस्ट में एकमात्र भारतीय कंपनी ‘रिलायंस’

by M. Nuruddin 9 months ago Views 1237

RIL only an Indian company on global list of 100 f
कोरोना महामारी की वजह से दुनिया में लगभग सभी कारोबार ठप्प हैं लेकिन इस दौरान कई कंपनियां ऐसी हैं जिन्होंने अपने शेयर का विस्तार किया है। न्यूज़ ऑर्गेनाइजेशन फानेंशियल टाइम्स ने ऐसी 100 कंपनियों की लिस्ट जारी की है जिन्होंने इस महामारी में भी अपने शेयर बढ़ाए हैं। इस लिस्ट में 47 फीसदी अमेरिकी कंपनियां और 24 फीसदी चीनी कंपनियां हैं। ख़ास बात ये है कि इन 100 कंपनियों में भारत की एकमात्र कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज़ शामिल है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ उन सौ कंपनियों की लिस्ट में 89वें नंबर पर है। रिपोर्ट के मुताबिक़ कंपनी ने अपने मार्केट कैप में तालाबंदी के दौरान 9 अरब डॉलर की बढ़ोत्तरी की है। हालांकि इस दौरान कंपनी के ऊर्जा व्यवसाय को नुकासन उठाना पड़ा लेकिन टेलिकॉम यूनिट के शेयर बेचने के बाद उन सौ कंपनियों की लिस्ट में शामिल हो सकी है।


रिपोर्ट में कहा गया है, ‘रिलायंस के प्रमुख ऊर्जा व्यवसाय को महामारी के दौरान नुकसान उठाना पड़ा है। वहीं विदेशी निवेशकों ने इसके डिजिटल यूनिट जियो में भारी निवेश किये हैं। अप्रैल महीने में कंपनी ने अपनी दस फीसदी हिस्सेदारी फेसबुक को बेचने के बाद 5.7 अरब डॉलर की रक़म इकट्ठा किए। कंपनी ने सिल्वर लेक, केकेआर से लेकर मुबाडला तक को अपने टेलकॉम यूनिट के शेयर बेचे हैं।’

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की टेलिकॉम यूनिट ने 22 अप्रैल तक विदेशी निवेशकों से 117,588.45 करोड़ रुपये जुटाए हैं। वहीं इसी में अब अमेरिका की सेमकंडक्टर जियांट इंटेल भी 1,894.5 करोड़ रूपये निवेश करने की तैयारी में है।

वीडियो देखिए

रिलायंस जियो 40 करोड़ सब्सक्राइबर के साथ देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है और अब कंपनी ई-कॉमर्स की दिशा में भी अपने कदम बढ़ा रही है।

बता दें कि 100 प्रोफिट मेकिंग कंपनियों में पहले नंबर पर अमेज़ोन है, जिसने महामारी के दौरान अपने मार्केट कैप में 401.1 अरब डॉलर की बढ़ोत्तरी की। इसी तरह माइक्रोसॉफ्ट 269.9 अरब डॉलर, एप्पल 219.1 अरब डॉलर, टेस्ला 108.4 अरब डॉलर और टेनसेंट का मार्केट कैप 93 अरब डॉलर तक बढ़ा है।

ताज़ा वीडियो