ads

पीएम मोदी रूस में हैं, एक नज़र भारत और रूस के बीच व्यापारिक संबंधों पर

by Arika Bragta 1 year ago Views 1694

PM Modi On A Two-Day Tour In Russia
बुधवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन के साथ दोनों देशों के सम्बंधों पर बातचीत की। इस दौरान भारत और रूस के बीच व्यापारिक समझौते पर दस्तख़त भी हुए। दोनों पक्षों ने 15 एग्रीमेंट साइन किए हैं, जिसमें डिफेन्स, एयर, मेरीटाइम कनेक्टिविटी, एनर्जी, नेचुरल गैस और पेट्रोलियम शामिल हैं | एक नज़र डालते हैं कि पिछले पांच सालों में भारत और रूस के बीच कारोबार कैसा रहा।

दरअसल जब एनडीए ने केंद्र की सत्ता सम्भाली तो भारत का रूस के साथ व्यापार फायदे में चल रहा था लेकिन 2017 तक घाटे में बदल गया। साल 2014 में भारत का रूस के साथ ट्रेड सरप्लस 1.46 बिलियन डॉलर का था। 2015 में ये गिरकर 1.23 बिलियन डॉलर हो गया।


2016 में ये और गिरा और भारत का रूस के साथ ट्रेड सरप्लस 0.47 बिलियन डॉलर रह गया। 2017 में भारत और रूस के व्यापारिक रिश्तों ने यू-टर्न लिया और भारत जो अब तक रूस के साथ ट्रेड सरप्लस में था, वो घाटे में पहुंच गया। 2017 में भारत का रूस के साथ व्यापार घाटा 0.67 बिलियन डॉलर का हो गया।

साल 2014 में रूस को भारत का निर्यात 3.01 बिलियन डॉलर था जो 2015 में गिरकर 2.15 बिलियन डॉलर हुआ। 2016 में ये और गिरकर 1.93 बिलियन डॉलर पर जा पहुंचा और 2017 में इसमें और गिरावट आई और ये 1.53 बिलियन डॉलर पर आ गया।

वीडियो देखिये

जबकि रूस से भारत का आयात 2014 में 1.55 बिलियन डॉलर था जो 2015 में गिरकर 0.92 बिलियन डॉलर हुआ। 2016 में बढ़कर 1.46 बिलियन डॉलर और 2017 में 2.20 बिलियन डॉलर हो गया। रूस को भारत के निर्यात का सबसे बड़ा हिस्सा दवाइयां आदि हैं जब रूस से आयात का सबसे बड़ा हिस्सा हथियार आदि हैं।

भारत जो पांच मुख्य चीज़ें रूस को निर्यात करता है वो है

दवाइयां, चाय, चावल, रैसिन्स और कॉफ़ी

भारत, रूस से जो पांच मुख्य चीज़े आयात करता है वो हैं

डिफेन्स मशीनरी, इक्विपमेंट्स, केमिकल प्रोडक्ट्स, खाने-पीने की चीज़ें और कृषि का सामान और अनकट डायमंड और सिल्वर।

ताज़ा वीडियो