GST कलेक्शन का बना नया रिकॉर्ड, मार्च में 1.23 लाख करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिला

by GoNews Desk 5 months ago Views 2064

New record of GST collection, revenue of Rs 1.23 l
देश में GST कलेक्शन का नया रिकॉर्ड बन गया है। सरकारी डाटा के मुताबिक, मार्च में GST कलेक्शन 1,23,902 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले इसी अवधि के मुकाबले इसमें 27% की बढ़त रही है। मार्च 2020 में GST कलेक्शन 97,590 करोड़ रुपए रहा था। यह लगातार छठा महीना है, जब GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहा है।

वित्त मंत्रालय ने कहा कि GST लागू होने के बाद मार्च 2021 में अब तक का सबसे ज़्यादा टैक्स कलेक्शन रहा है। साथ ही पिछले 5 महीने से जारी तेज़ी का ट्रेंड भी बरकरार है। डाटा के मुताबिक, वस्तुओं के आयात से मिलने वाले GST में 70% की ग्रोथ रही है, जबकि घरेलू ट्रांजेक्शन से मिलने वाले राजस्व में 17% का उछाल आया है।


डाटा के मुताबिक, सरकार को CGST से 22,973 करोड़ रुपए, SGST से 29,329 करोड़ रुपए और IGST से 62,842 करोड़ रुपए मिले हैं। IGST में आयात की जाने वाली वस्तुओं से मिले 31,097 करोड़ रुपए और सेस के तौर पर वसूले गए 8,757 करोड़ रुपए भी शामिल हैं। IGST में से 21,879 करोड़ रुपए CGST और 17,320 करोड़ रुपए SGST में सेटल किए गए हैं। 31 मार्च को खत्म हुए वित्त वर्ष 2020-21 में GST कलेक्शन में पहली तिमाही में 41% और दूसरी तिमाही में 8% की गिरावट रही है। तीसरी तिमाही में 8% और चौथी तिमाही में 14% की ग्रोथ रही है।

बता दें कि 2017 में GST लागू हुआ था और यह पहली बार है, जब लगातार 6 महीने तक GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ से ऊपर रहा है। इसी के साथ किसी एक महीने में सबसे ज़्यादा कलेक्शन का रिकॉर्ड भी मार्च 2021 के नाम हो गया है। अक्टूबर में GST का कलेक्शन 1.05 लाख करोड़, नवंबर में 1.04 लाख करोड़, दिसंबर में 1.15, जनवरी में 1.19 और फरवरी में 1.13 लाख करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ था।

मार्च में कुल GST कलेक्शन 1,23,902 करोड़ रुपए रहा है। इसे 31 दिनों में बराबर बांट दिया जाए तो हर रोज़ 3,996 करोड़ रुपए का GST कलेक्शन रहा है। हालांकि, रोज़ाना के लिहाज से यह फरवरी से कम रहा है। फरवरी में रोज़ाना करीब 4035 करोड़ रुपए का कलेक्शन रहा था। कुल कलेक्शन 1,13,143 करोड़ रुपए रहा था।

वहीं मार्च 2021 में GST कलेक्शन के लिहाज से टॉप-5 राज्य देखें तो इस सूची में शीर्ष पर मौजूद है महाराष्ट्र जहाँ कुल 17,038.049 करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ। वहीं 8,197.04 करोड़ रुपए के कलेक्शन एक साथ गुजरात दूसरे स्थान पर मौजूद है और 7,914.98 करोड़ रुपए के कलेक्शन एक साथ कर्नाटक तीसरे स्थान पर क़ाबिज़ है।

ताज़ा वीडियो

ads